जैविक तकनीक से करें खेती

 हमीरपुर  — किसानों को प्रोत्साहित करने के दृष्टिगत हमीरपुर जिला में नाबार्ड के माध्यम से 156 किसान क्लब गठित किए गए हैं। प्रत्येक क्लब को विभिन्न गतिविधियां चलाने के लिए प्रति वर्ष दस-दस हजार की राशि प्रदान की जा रही है, ताकि किसानों को खेतीबाड़ी के बारे में नई तकनीक की जानकारी मिल सके। यह जानकारी उपायुक्त आशीष सिंहमार ने गुरुवार को समैला पंचायत के चलैली गांव में किसान क्लब के शुभारंभ अवसर पर बतौर मुख्यातिथि दी। उन्होंने कहा कि ग्रामीण स्तर पर ज्यादा से ज्यादा किसान क्लबों का गठन अत्यंत जरूरी है। उन्होंने कहा कि सामूहिक तौर पर किए गए किसी भी कार्य के बेहतर परिणाम सामने आते हैं, उसी तर्ज पर किसान क्लबों के प्रतिनिधि विभिन्न विभागों तथा बैंकों से संपर्क कर किसानों के लिए चलाई जा रही योजनाओं की जानकारी किसानों तक पहुंचाएंगे। उपायुक्त आशीष सिंहमार ने कहा कि वर्तमान सरकार ने कृषि को बढ़ावा देने के लिए विभिन्न योजनाएं तथा कार्यक्रम आरंभ किए गए हैं । उन्होंने किसानों का आह्वान करते हुए कहा कि पारंपरिक खेती से हटकर नकदी फसलों को उगाने की तरफ ध्यान दें, इसके साथ ही जैविक खेती को बढ़ावा दिया जाना चाहिए। उन्होंने विभागीय अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि किसानों की समस्याओं को प्राथमिकता के आधार पर निपटाया जाना सुनिश्चित किया जाए। इससे पहले किसान क्लब चलैली के अध्यक्ष राजकुमार ने मुख्यातिथि का स्वागत करते हुए अपने क्लब के बारे में विस्तार से जानकारी दी। इस अवसर पर डीडीएम नाबार्ड विजय नेगी ने हमीरपुर जिला में चल रहे किसान क्लबों की गतिविधियों से किसानों को अवगत करवाया है।