आयुर्वेद कालेज को मिली जमीन

बैजनाथ राजीव गांधी आयुर्वेदिक महाविद्यालय के साथ लगती निजी भूमि के अधिग्रहण का लंबे समय से लटका मामला हल हो गया। उपमंडलाधिकारी (ना.) केके सरोच द्वारा भूमि अधिग्रहण नियम के तहत भूमि मालिकों को जो मौके पर हाजिर हुए, 80 प्रतिशत मुआवजे की रकम देकर जमीन का अधिग्रहण कर उस जमीन को महाविद्यालय के प्राचार्य को सौंप दिया। एसडीएम केके सरोच ने बताया कि महाविद्यालय के साथ लगती निजी भूमि के अधिग्रहण की प्रक्रिया लंबे समय से जारी थी।

You might also like