उजड़े लेह को बसाएगी सीआईआई

कार्यालय संवाददाता, नालागढ़

लेहवासियों को बादलों ने जो घाव दिए, उन पर हर शख्स मरहम लगाने का प्रयास कर रहा है। भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) ने भी इन बदनसीब लोगों की सहायता का बीड़ा उठाया है। सीआईआई ने इसी कड़ी में लेह-लद्दाख के दो गांवों साबू व निम्मो को गोद लेकर इन्हें बसाने की कवायद शुरू कर दी है। सीआईआई इन गांवों में प्रलयकारी बादलों से हुए नुकसान को कम करने के लिए इन्हें नए सिरे से बसाएगा। सीआईआई की क्षेत्रीय निदेशक चारू माथुर ने बताया कि हिमाचल के उद्योगपतियों ने भी लेह-लद्दाख के बाशिंदों के दुख-दर्द को बांटने का प्रयास किया है। इसी के तहत एसीसी सीमेंट साबो व निम्मो गांव में निर्माण कार्य के लिए सौ टन सीमेंट देगा। इसके अलावा द्रिश शूज उद्योग नालागढ़ जूतों के एक हजार जोड़े, डाबर इंडिया 500 टूथपेस्ट और ब्रश, हिंदोस्तान यूनिलीवर लिमिटेड वाटर प्यूरीफायर फिनिक्स उद्योग 500 पेल्टस, कंबल व जैकेट, कोलगेट, पामोलिव एक हजार टूथब्रश व पेस्ट की सहायता देगा। इसके अलावा मोरपेन लैब जरूरी दवाएं प्रभावित क्षेत्र में भेजेगा। चारू माथुर ने बताया कि लेह में हुई भयंकर तबाही के बाद सीआईआई ने इस विपदा की घड़ी में वहां के लोगों का दुख दर्द बांटने का फैसला लिया।

You might also like