ऊना में एकल नारियों के हक मांगे

स्टाफ रिपोर्टर, ऊना

एकल नारी शक्ति संगठन ने सरकार से इस वर्ग विशेष के प्रति उपेक्षापूर्ण रवैये पर रोष जताया है। एकल नारी शक्ति संगठन की प्रवक्ता कांता शर्मा ने कहा कि संगठन को इस बात का मलाल है कि जिला में विधवाओं, तलाकशुदा, परित्यक्ता व लापता पति के बगैर अपनी जिंदगी बसर करने वाली महिलाओं की कोई सुध नहीं ले रहा है।

हालात ये हैं कि ऐसी महिलाएं अकेलेपन में अपने आपको परेशान महसूस कर रही हैं। सरकार द्वारा बरती जा रही उपेक्षा को लेकर संगठन ने बताया कि सामाजिक सुरक्षा पेंशन का अधिकार हर एकल नारी को नहीं दिया गया है। यहां तक कि सामाजिक सुरक्षा पेंशन भी मात्र 330 रुपए प्रतिमाह दी जा रही है। इसे अभी तक बढ़ाकर एक हजार रुपए नहीं किया गया है।

एकल महिला को न तो बीपीएल परिवार की सूची में शामिल किया गया है और न ही सभी एकल महिलाओं को मुफ्त स्वास्थ्य सेवाएं दी जा रही हैं। एकल नारी को अब तक सरकार द्वारा लीज पर हर महिला को 10 बीघा जमीन भी नहीं दी गई है। उन्होंने कहा कि एकल नारी शक्ति संगठन ने कई बार मांगों को सरकार के समक्ष उठाया है।

You might also like