एक अध्यापक के सिर पांच कक्षाएं

स्टाफ रिपोर्टर, कुल्लू

राजकीय प्राथमिक पाठशाला चंसारी में केवल एक अध्यापक पांच कक्षाओं को पढ़ा रहा है। स्कूल में 76 छात्र पढ़ रहे हैं। चंसारी स्कूल में एक मुख्याध्यापक तथा दो जेबीटी अध्यापकों की नियुक्ति हुई है, जिसमें एक जेबीटी अध्यापक अप्रैल से लुगड़भट्टी में डेपुटेशन पर है। स्कूल के मुख्याध्यापक टूर्नामेंट ड्यूटी पर हैं व इसके बाद 30 सितंबर तक जनगणना अभियान में ड्यूटी लगी है। आजकल स्कूल में केवल एक अध्यापक के सहारे पांच कक्षाएं चल रही हैं, जिससे बच्चों का भविष्य अधर में लटका हुआ है। ग्राम पंचायत चंसारी  के उपप्रधान व गांव के पंच और अन्य गांववासियों ने विभाग से अपील की है कि जल्द से जल्द स्कूल में अध्यापक उपलब्ध करवाएं। गौरतलब है कि डेपुटेशन पर गए अध्यापक द्वारा बच्चों को लुगड़भट्टी स्कूल में पढ़ाया जा रहा है, लेकिन उक्त अध्यापक का वेतन चंसारी स्कूल में आ रहा है। बच्चों की पढ़ाई के हो रहे नुकसान को लेकर बच्चों के अभिभावकों में रोष की लहर है। अभिभावकों का कहना है कि प्रदेश सरकार जहां सरकारी स्कूलों में बच्चों को पढ़ाने के लिए बच्चों के माता-पिता का प्रेरित कर रही है, वहीं स्कूलों में स्टाफ का टोटा दुरुस्त नहीं किया जा रहा। ऐसी स्थिति में अभिभावक अपने बच्चों को निजी स्कूलों में क्यों न पढ़ाएं। एक तरफ प्रदेश सरकार हिमाचल को शिक्षा के क्षेत्र में मिले तमगे से इतरा रही है, तो दूसरी ओर प्रदेश में सरकारी स्कूलों की हालत खराब है। कहीं स्कूल निजी भवनों में चल रहे हैं, तो कहीं स्कूलों में स्टाफ ही नहीं है।

You might also like