कितने तबादले हुए, सरकार बेखबर

शकील कुरैशी, शिमला

अफसरों पर प्रदेश सरकार की पकड़ ढीली है। यह केवल आरोप ही नहीं, बल्कि सच्चाई है, क्योंकि सरकार द्वारा जारी दिशा निर्देशों का सख्ती से अमल नहीं हो रहा। दो माह पूर्व कर्मचारियों के साधारण तबादलों से रोक हटाई गई और करीब एक माह बाद फिर प्रतिबंध लगा दिया है। इस दौरान विभागों ने कितने तबादले किए, इसका कोई भी आंकड़ा सरकार के पास नहीं है। सरकारी निर्देशों पर कार्मिक विभाग ने सभी विभागीय सचिवों व विभागाध्यक्षों को आदेश जारी किए थे। अफसरशाही है कि अब तक सरकार को इसकी पूरी सूचना मुहैया नहीं हो पाई है। सचिवालय से जुड़े सूत्रों के मुताबिक कार्मिक महकमों को कुछ विभागों से ही अब तक यह सूचना आई है, लेकिन अधिकांश से तबादलों की विस्तृत जानकारी नहीं आई है। ऐसे में सरकारी फरमानों की गंभीरता को कोई नहीं ले रहा, इसका साफ तौर पर पता चलता है। जानकारी के अनुसार इस पर एक दफा फिर से कार्मिक विभाग ने विभागों को रिमाइंडर भेजा है, रिमाइंडर भी ऐसा कि दो दिन में पूरे आंकड़े मांगे गए हैं। इससे पता चलता है कि सरकार के आदेशों का पालन नहीं होेने पर फजीहत हुई है और सरकार ने अब सख्ती बरतने को कहा है। यहां बता दें कि तबादलों पर प्रतिबंध हटने के दौरान भी कार्मिक विभाग ने सभी विभागों को निर्देश दिए थे कि वे पूरा रिकॉर्ड रखेंगे और बाद में इसे सरकार की जानकारी के लिए भेजेंगे। तबादलों पर प्रतिबंध खत्म हुए भी समय हो गया और उसके बाद भी एक माह से अधिक समय समाप्त हो गया है, फिर भी विभाग गंभीर नहीं है। इस संबंध में कार्मिक विभाग की तरफ से पत्र संख्या पीईआर (एपी-बी) बी (7)-2/2010 रिमाइंडर के रूप में जारी हुआ है। उपसचिव कार्मिक कार्यालय से जारी इस पत्र में बताया गया है कि यह जानकारी 12 जुलाई को मांगी गई थी। साल की दूसरी तिमाही में जितने भी तबादले किए गए उनकी विस्तृत जानकारी दी जाए।  कुछेक प्रशासनिक सचिवों को यह पत्र भेजा गया है, जिसमें पशुपालन, उद्योग, राज्य निर्वाचन आयोग, परिवहन, प्रशिक्षण एवं एफए, आयुर्वेद,  उच्च शिक्षा कालेज कैडर, लोकायुक्त, लोक निर्माण विभाग, आबकारी एवं कराधान तथा आईपीएच शामिल हैं। इसके अलावा कुछेक जिलों के जिलाधीशों को भी पत्र भेजा गया है । सूत्र बताते हैं कि दो दिन में यह जानकारी नहीं आती है, तो मामला मुख्य सचिव के ध्यान में जाएगा। कार्मिक विभाग के उपसचिव मोती राम शर्मा ने माना कि विभागों को रिमाइंडर भेजा गया है।

You might also like