किन्नू मिडल स्कूल दरका

मुकेश जसवाल, ऊना

अंब उपमंडल के अंतर्गत राजकीय मिडल स्कूल किन्नू में बरसात के कहर से स्कूल के सभी कमरे क्षतिग्रस्त होने का मामला प्रकाश में आया है। हालात ये हो गए हैं कि छठी कक्षा से लेकर आठवीं कक्षा तक के सभी छात्र असुरक्षित भवन में पढ़ने को विवश हैं। किन्नू के राजकीय माध्यमिक विद्यालय में बरसात के कहर से छठी से लेकर आठवीं तक के कमरे क्षतिग्रस्त हो गए हैं। दीवारों में दरारें पड़ गई हैं व स्टाफ रूम व रसोईघर भी क्षतिग्रस्त हो गया है, लेकिन बरसात के कहर से स्कूली भवन क्षतिग्रस्त होने से कोई छात्र चोटिल नहीं हुआ है। हालांकि गत मई माह में स्कूल के मुख्याध्यापक ने लिखित तौर पर राजकीय मिडल स्कूल किन्नू के भवन को छात्रों के लिए असुरक्षित बताया था।

इस पर शिक्षा विभाग ने कोई कार्रवाई नहीं की और बड़ा हादसा होते-होते टल गया। अब स्कूल के क्षतिग्रस्त होने का मामला फिर शिक्षा विभाग के ध्यान में लाया गया है। इस पर शिक्षा विभाग ने कार्रवाई करते हुए स्कूल के कमरों को छात्रों को बैठने के लिए असुरक्षित घोषित कर दिया है। भवन के क्षतिग्रस्त होने से करीब तीन लाख का नुकसान बताया जा रहा है। राजकीय माध्यमिक पाठशाला किन्नू के मुख्याध्यापक धर्मवीर ने बताया कि शिक्षा विभाग ने स्कूल के भवन को असुरक्षित घोषित कर दिया है और अब तीन कक्षाओं के 56 छात्रों को एक कमरे में पढ़ाया जा रहा है। उधर, शिक्षा विभाग एलिमेंटरी की उपनिदेशक निर्मला ने कहा कि इस संबंध में आवश्यक कार्रवाई की जा रही है।

You might also like