किसानों को साढ़े 11 करोड़ की चपत

नैनाटिक्कर। पहले सूखा अब भारी बरसात के चलते पच्छाद तहसील के किसानों को टमाटर, शिमलामिर्च की नकदी फसलों में 11.35 करोड़ रुपए की भारी चपत लगी है, जिससे पच्छाद तहसील का 90 फीसदी आम आदमी तथा किसान परिवार बूरी तरह प्रभावित हुए हैं। कृषि विभाग द्वारा किए गए नुकसान के आकलन के चलते पच्छाद तहसील की लगभग 30 पंचायतों में 6790 मीट्रिक टन टमाटर की फसल तथा 750 मीट्रिक टन के लगभग शिमलामिर्च की फसल सूखे तथा पानी से बर्बाद हो गई है। विभाग द्वारा यह आंकड़े 31 जुलाई, 2010 तक के लिए गए हैं। सबसे ज्यादा नुकसान नैनाटिक्कर, सराहां, डिलमन, बाग-पशोग, लालटिक्कर, महलोग, कथाड़, सादनाघाट, बनाह-घिन्नी, बागथन व मानगढ़ इत्यादि ग्राम पंचायतों में हुआ है। विषयवाद विशेषज्ञ कृषि विभाग पच्छाद राजेश कौशिक का कहना है कि विभाग द्वारा फिलहाल टमाटर, शिमलामिर्च की फसलों के नुकसान का आकलन किया है। रिपोर्ट सरकार को भेजी जा रही है।

You might also like