घर से छह मीटर दूर बना दिया श्मशानघाट

डीआर सकलानी, सरकाघाट

जिला मंडी व हमीरपुर की सीमाओं के साथ सटे डली (दारपा) गांव के निवासी कंवर सिंह के मकान से लगभग छह मीटर दूरी गुंधवी (हमीरपुर) गांव के निवासियों ने श्मशानघाट बना दिया है, जिस कारण कंवर सिंह का परिवार काफी परेशान है। जब इस श्मशानघाट में शव दाह किया जाता है, तो उन्हें दूसरों के घरों में जाकर रात बितानी पड़ती है, क्योंकि शवदाह राख घर में घुस जाती है और प्रदूषित वातावरण बना रहता है। कंवर सिंह का कहना है कि यहां से यह श्मशानघाट शिफ्ट कर दिया जाए, तो उनके परिवार को इस समस्या से निजात मिलेगी।

कंवर सिंह ने कहा कि इस बारे उनकी पत्नी सरिता देवी, बार-बार प्रशासनिक अधिकारियों से भी गुहार कर चुकी है, लेकिन किसी ने नहीं सुनी। कंवर सिंह ने बताया गुंधवीं गांव वाले पहले शवदाह दूसरी जगह करते थे, लेकिन कुछ असामाजिक तत्त्वों द्वारा जान-बूझकर हमारे घर की छह मीटर दूरी पर श्मशानघाट बना दिया, जो कि उचित नहीं है। हालांकि इस बाबत एसडीएम भोरंज वहां का दौरा कर चुके हैं, लेकिन अभी तक कुछ नहीं। जब इस बारे पंचायत अमरोह (हमीरपुर) के प्रधान राजेंद्र कुमार से बात की गई, तो उन्होंने कहा कि गुंधवीं गांव के निवासियों व कंवर सिंह के परिवार के मध्य मतभेद हैं। श्मशानघाट दूसरी जगह भी बन सकता है, यदि इनमें मतभेद दूर हों। उन्होंने कहा कि इस श्मशानघाट के लिए कोई भी सरकारी धन उपलब्ध नहीं करवाया गया है तथा गांव गुंधवी के लोगों के योगदान से बनाया गया है। उधर, एसडीएम सरकाघाट विजय कुमार से संपर्क साधा तो उन्होंने बताया कि उन्होंने तथा एसडीएम भोरंज मौका पर गए तथा लोगों से मिले और पंचायत प्रधानों से भी कहा गया कि वे एक महीने के अंदर-अंदर दोनों पक्षों में चल रहे मनमुटाव को खत्म करें, ताकि इस श्मशानघाट की दूसरी जगह बनाया जा सके।

You might also like