टनों मलबे तले दफन तीन बाइक सवार जिंदा निकाले

पांवटा साहिब। विकास खंड के गोरखुवाला क्षेत्र में लोग कुदरत के करिश्मे से हैरान हैं। यहां सोमवार रात्रि तीन मोटरसाइकिल सवार सैकड़ों टन वजनी मलबे के नीचे दब गए थे, लेकिन घंटों की मशक्कत के बाद जब तीनों को मलबे से निकाला गया, तो तीनों को जिंदा देखकर बचाव कार्य में लगे स्थानीय लोग व पुलिस कर्मियों की खुशियों का ठिकाना न रहा। घटना सोमवार की रात्रि लगभग साढ़े दस बजे की है, जब श्यामपुर निवासी सुदर्शन सिंह के बेटे 22 वर्षीय राजेश व 24 वर्षीय देशराज अपनी मोटरसाइकिल अपने दोस्त मानपुर निवासी 21 वर्षीय कृष्णा पुत्र सुलेख सिंह के साथ भंगाणी की तरफ आ रहे थे। दोनों ने गोरखुवाला के पास स्थित पेट्रोल पंप पार किया ही था कि उनके ठीक ऊपर पहाड़ दरकने लगा और तीनों युवक मोटरसाइकिलों समेत मलबे में दब गए। गनीमत यह रही कि मलबे में पूरी तरह दबने से पहले तीनों युवकों की चीखें आसपास ग्रामीणों ने सुन ली थीं, ऐसे में लोगों ने पुलिस को सूचित किया और स्वयं भी बचाव कार्य मंे जुट गए। आनन-फानन में जेसीबी मशीन मंगवाई गई और कुछ ही घंटों में तीनों युवकों को मलबे से बाहर निकाला गया। तीनों युवकों को महज मामूली चोटें ही आई हैं और पांवटा अस्पताल में प्राथमिक इलाज के बाद तीनों को घर भेज दिया गया है। बरसाती मलबे के नीचे से सुरक्षित निकलने की घटना को क्षेत्र मंे चमत्कार माना जा रहा है। उधर, पांवटा डीएसपी वीरेंद्र ठाकुर ने मामले की पुष्टि करते हुए कहा कि तीनों युवक सुरक्षित हैं। उन्हांेने कहा कि भारी बरसात में बचाव कार्य में भी भारी परेशानी आई थी, लेकिन स्थानीय लोगों की मदद से युवकों को सुरक्षित बाहर निकाला गया।

You might also like