तीन गुना बढ़ी वीरू की लोकप्रियता

नई दिल्ली। दांबुला में चल रही त्रिकोणीय एकदिवसीय शृंंखला में श्रीलंकाई आफ स्पिनर सूरज रणदीव की इरादतन नो बाल ने विस्फोटक भारतीय ओपनर वीरेंद्र सहवाग को एक वनडे शतक से वंचित भले किया हो, लेकिन इस प्रकरण ने माइक्रोब्लागिंग वेबसाइट (ट्विटर) पर सहवाग की लोकप्रियता में तीन गुना का इजाफा कर दिया है। नो बाल प्रकरण के पहले ट्विटर पर सहवाग के लगभग 27500 फालोवर थे। नो बाल के बाद रणदीव द्वारा अगले दिन माफी मांगने का खुलासा सहवाग ने जैसे ही इस वेबसाइट पर किया, उनके प्रशंसकों की बाढ़ आ गई। सहवाग की इस ट्विट के बाद 24 घंटे के अंदर उनके प्रशंसकों की संख्या 85000 के पार चली गई, जो घटना से पहले के मुकाबले तीन गुना से भी ज्यादा है। यूं कहें कि 24 घंटे के अंतराल में सहवाग के प्रशंसकों की संख्या कम से कम 60 हजार बढ़ गई। लोकप्रियता का ऐसा ज्वार इससे पहले मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर और बालीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन के मामले में देखा गया था। सचिन ने तो जिस दिन ट्विटर पर कदम रखे, उसी दिन उनके प्रशंसकों की संख्या 50000 से ज्यादा हो गई थी। लगभग छह माह से ट्विटर पर मौजूद सहवाग को इस घटना के पहले किसी ने खास नोटिस नहीं किया था।  श्रीलंका दौरे के लिए रवाना होने के साथ ही वह अपने ट्विटर प्रशंसकों को ब्लैकबेरी फोन के माध्यम से अपनी स्थितियों से अवगत कराते रहे, लेकिन वनडे शृंंखला के तीसरे मैच के बाद तो क्रिकेट प्रेमी खुद-ब-खुद सहवाग का प्रोफाइल ढूंढते नजर आए।

You might also like