नाटकों से लोगों को किया जागरूक

निजी संवाददाता, सिहुंता

ग्राम पंचायत सिहंुता में इंडो ग्लोबल सोशल सर्विस सोसायटी के सौजन्य से ‘नेशनल सिटीमैक्स कारवां’ ने नाटकों व गीतों के माध्यम से मजदूरों की दशा, उद्योगों व प्रोजेक्टों के कारण उजड़ते गांवों के बारे में लोगों को जानकारी दी।

नेशनल सिटीमैक्स कारवां के को-आर्डिनेटर विपिन ने बताया कि यह अभियान इंडो ग्लोबल सोशल सोसायटी के सौजन्य से राष्ट्रीय स्तर पर चलाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि गांव में गलत विकास हो रहा है तथा विकास की दिशा गलत है, जिससे बड़े उद्योग फैल रहे हैं। गांव के संसाधन जल, जंगल, जमीन उद्योगों व प्रोजेक्टों को बेचे जा रहे हैं। गांव की दस्तकारियां उद्योगों ने चौपट कर दी हैं, इसलिए गांव में बेरोजगारी है और गांव उजड़ रहे हैं, जिसको गांव के लोगों का शहर की ओर पलायन हो रहा है। शहरों के संसाधन कम हो रहे हैं और लोग वहां झुग्गी-झोंपडि़यों में बस कर बदहाल जिंदगी जीने को मजबूर हैं। उन्होंने कहा कि इस अभियान द्वारा नाटकों व गीतों के माध्यम से संदेश दिया जा रहा है, ताकि शहरी झुग्गी-झोंपडि़यों में बसने वाले लोगों की हालत सुधारी जाए और गांव का ऐसा विकास किया जाए, जिससे गांव के व्यक्ति को गांव में ही इज्जत की रोटी मिल सके, ताकि ये लोग शहरों की ओर पलायन न करें। हिमाचल प्रदेश में इस राष्ट्रीय स्तर के अभियान को ‘हिमालय नीति अभियान’ का भरपूर समर्थन मिल रहा है।

You might also like