पंडोह डैम के दो गेट खोले

मंडी पंडोह डैम भारी बरसात के चलते लबालब भर गया है, जिसके चलते दो गेट खोल दिए गए हैं। शनिवार को डैम में 28 हजार क्यूसिक पानी था, जबकि पानी भरने की क्षमता 30 हजार क्यूसिक है। डैम से सुंदरनगर नहर में पानी छोड़े जाने के अतिरिक्त शेष पानी ब्यास नदी में छोड़ा जा रहा है। हालांकि ज्यादा पानी भरने से डैम को ज्यादा खतरा नहीं है और जैसे ही पानी ज्यादा पहुंचता है, उसी समय रैड अलर्ट घोषित कर ब्यास नदी में ज्यादा जमा हुए पानी को छोड़ दिया जाता है। सूत्रों के मुताबिक आजकल डैम के दो गेट खोले गए हैं। इसी डैम से नहर के माध्यम से पानी डैहर ले जाया गया है, जहां विद्युत उत्पादन हो रहा है। इस दौर में डैहर विद्युत प्रोजेक्ट में भी अपनी क्षमता के मुताबिक विद्युत उत्पादन हो रहा है। विद्युत उत्पादन में इसी डैम का प्रमुख योगदान है। बताया जा रहा है कि अभी 40 फीसदी सिल्ट डैम में मौजूद है। पिछले सप्ताह ही डैम से सिल्ट छोड़ी गई थी। पंडोह डैम के एसडीओ हरेंद्र सेन ने बताया कि फिलहाल डैम को डी-सिल्ट करने की कोई योजना नहीं है।

You might also like