पांगी में एनएसयूआई की सेंध

निजी संवाददाता, किलाड़

राजकीय डिग्री कालेज में एससीए के चुनावों में अध्यक्ष पद पर एनएसयूआई के देवी सिंह बीए तृतीय वर्ष ने एबीवीपी के कहर सिंह तृतीय वर्ष को हराकर पहली बार अपना कब्जा जमाया है।

इससे पहले पांगी कालेज में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद का कब्जा रहा था। इस बार कालेज में 98 में से 90 छात्र-छात्राओं ने मतदान किया। मतदान 91 प्रतिशत रहा। एनएसयूआई के देवी सिंह को 50 मत तथा एबीवीपी के कहर सिंह को 40 मत पड़े। महासचिव पद पर अंजना कुमारी बीए द्वितीय वर्ष ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी बीए प्रथम वर्ष की ललीता को दो मतों से हराया। अंजना को 46 तथा ललीता को 44 मत पड़े। सहसचिव का पद भी अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने हथियाया। एबीवीपी की श्वेता शर्मा ने 48 मत हासिल करके एनएसयूआई की रीता को छह मतों हराया।

बीए प्रथम वर्ष के सीआर पद पर सुषमा एनएसयूआई ने 28 मत हासिल करके पांच मतों से एबीवीपी के सुशील कुमार को हराया। बीए तृतीय वर्ष के सीआर पद पर पुष्पा तथा बीए द्वितीय वर्ष उदय चंद एबीवीपी निर्विरोध चुने गए थे। पांगी कालेज में उपाध्यक्ष का पद गत दो वर्षों से खाली ही चल रहा है। इस बार एबीवीपी के उम्मीदवार का परचा रद्द हुआ, तो एनएसयूआई के उम्मीदवार ने नाम वापस लिया। एनएसयूआई द्वारा अध्यक्ष पद पर कब्जा करने से ब्लाक कांग्रेस में खुशी की लहर है, वहीं भाजपा खेमे में खुशी तो है, मगर अंदर खाते से निराश भी हैं, क्योंकि इसका संकेत पंचायत चुनावों तक जा सकता है। प्रधानाचार्य जगदीश लाल ने बताया कि चुनाव के दौरान कालेज परिसर में माहौल शांतिपूर्ण रहा तथा कोई अप्रिय घटना नहीं हुई।

You might also like