पारुल ने एथलेटिक्स मीट में झटके स्वर्ण व ब्राउन पदक

बद्दी — वे दिन चले गए, जब पिता को अपने बेटे से यह उम्मीद होती थी कि उनका बेटा कोई ऐसा काम करेगा, जिससे उनका सीना चौड़ा हो जाएगा। आज देश की बेटियां इस रफ्तार से आगे बढ़ रही हैं कि उड़नपरी पीटी उषा, स्पेस गर्ल कल्पना चावला, टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा का नाम किसी परिचय का मोहताज नहीं है। देश की बेटियों ने यह साबित कर दिया है कि वे किसी से कम नहीं हैं, चाहे वह कोई भी फील्ड क्यों न हो।  यूनिवर्सिटी ऑफ पेट्रोलियम एंड एनर्जी देहरादून में एमबीए तृतीय वर्ष की इस होनहार छात्रा ने एथलेटिक्स मीट में दो स्वर्ण पदक और दो ब्राउन पदक हासिल कर अपने माता-पिता के साथ-साथ औद्योगिक क्षेत्र बद्दी का सीना भी चौड़ा कर दिया है। यही नहीं पारूल सूद ने खेलों के साथ-साथ शिक्षा के क्षेत्र में भी कीर्तिमान स्थापित करते हुए एमबीए इन्फ्रास्ट्रक्चर के सेकेंड समेस्टर में पूरे विश्वविद्यालय में दूसरा स्थान हासिल किया है।

You might also like