पौंग उफना, मक्की की फसल जलमग्न

निजी संवाददाता, नगरोटा सूरियां

पौंग झील में 1381.8 फुट तक का जल स्तर हो गया है। वहीं बढ़ते जल स्तर से गज खड्ड पर स्थित घराट (पनपक्की) झील में जलमग्न हो गया है, जिस वजह से इससे संबंधित रोजी रोटी कमाने वालों की मुश्किलें बढ़ गई हैं। उधर, बीबीएमबी विभाग स्थित तलवाड़ा (पंजाब) के अधिशाषी अभियंता केसी राणा व सहायक अभियंता अशोक कुमार के नेतृत्व में शनिवार को एक टीम ने झील क्षेत्र की सहायक खड्डों व ब्यास नदी का जायजा लिया। पता चला है कि इस टीम ने देहरा गोपीपुर, गुलेर, नगरोटा सूरियां व जवाली इलाके के साथ सटी पौंग झील क्षेत्र का निरीक्षण किया। वहीं क्षेत्र में तैनात कर्मियों के पार्किंग कार्य का भी निरीक्षण किया। उन्होंने खड्डों के किनारे भूमि कटाव बारे में भी जायजा लिया। वहीं गज खड्ड के अधिकांश हिस्से में पौंग झील का जल स्तर बढ़ने से स्थानीय लोगों द्वारा बीजी गई मक्की की फसल जल में समां गई है। गौरतलब है कि पिछले कई सालों से पौंग झील का खाली क्षेत्र गरीब लोगों की रोजी रोटी का जरिया बना हुआ है। वहीं अधिकांश हिस्से में पानी आ जाने से पशुओं के चारे की समस्या भी उत्पन्न हो गई है।

You might also like