प्रदेश हित को सड़क से संसद तक संघर्ष करेगी भाजपा

शिमला। भाजपा कार्यसमिति की बैठक में हिमाचली हितों की रक्षा करने के लिए प्रतिबद्धता दोहराई गई। नेताओं ने कहा कि प्रदेश हित के मुद्दों को लेकर सड़क से लेकर संसद तक पार्टी संघर्ष करेगी और प्रदेश की जनता को न्याय दिलवाकर रहेगी। कार्यसमिति ने माना कि भाजपा सरकार के 32 माह के कार्यकाल के दौरान चहुंमुखी विकास हुआ है। प्रदेश सरकार का यह कार्यकाल प्रदेश के इतिहास में स्वर्णिम अक्षरों में लिखा जाएगा। विधानसभा चुनाव के दौरान जो वादे किए थे, उन्हें तो पूरा किया ही गया है, इससे भी बढ़कर अनेक ऐतिहासिक व महत्त्वपूर्ण निर्णय लिए हैं, जिनसे न केवल हर वर्ग का कल्याण सुनिश्चित हुआ है, बल्कि प्रदेश में विकास को भी एक नई दिशा मिली है। नतीजतन विकास व विश्वास का एक नया वातावरण बना है। बैठक में प्रदेश सरकार की इस दौरान उपलब्धियों का उल्लेख करते हुए उनकी सराहना की गई। प्रदेश भाजपा कार्यसमिति की बैठक को संबोधित करते हुए नवनियुक्त प्रभारी कलराज मिश्र ने कार्यकर्ताओं व नेताओं को मिलकर चलने की घुट्टी पिलाई है। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि विकास योजनाओं के बल पर प्रो. धूमल की सरकार फिर से सत्ता में आएगी।  उन्होंने कहा कि कोई भी कार्यकर्ता अपने को छोटा-बड़ा न समझे और न ही किसी प्रकार के मतभेदों को आगे आने दे। जनता के सहयोग व उसके उपकार को कभी न भूलें। हिमाचल में पार्टी का संगठन व प्रदेश सरकार का सामजस्य, सारे देश के लिए मिसाल कायम कर सकता है। ऐसी आदर्श व्यवस्था को अन्य प्रदेशों में भी व्यवस्थित करने को कहा जाएगा। पार्टी कार्यों के संचालन के लिए बतौर प्रभारी वह हिमाचल का प्रवास करते रहेंगे। उन्होंने धूमल सरकार की विकास योजनाओं की प्रशंसा करते हुए कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री शिक्षा, स्वास्थ्य, सड़क, पानी, बिजली व पर्यावरण मित्र विकास योजनाओं को प्रभावी ढंग से लागू करने के लिए बधाई के पात्र हैं। श्री मिश्र ने पार्टीजनों का आह्वान किया कि वे निरंतर जनता के संपर्क में बने रहें और सरकार की विकास योजनाओं को लोगों तक पहुंचाने में प्रभावी भूमिका अदा करें। उन्होंने कहा कि सत्ता की सुविधा झोंपड़ी में रहने वाले आम व्यक्ति तक पहुंचे, इस ओर धूमल सरकार प्रयासरत है। आम जनता में सरकार की स्वीकारोक्ति, इसी का नतीजा है।  उन्होंने विश्वास व्यक्त करते हुए कहा कि विकास योजनाओं के बल पर धूमल सरकार फिर से सत्ता में आएगी। बैठक में शनिवार को कश्मीर बचाओ दिवस पर एक प्रस्ताव पारित किया गया, जिसमें कश्मीर सेे भारतीय जनता पार्टी का आत्मिक रिश्ता बताते हुए कहा कि कश्मीर का मुद्दा भारतीय जनता पार्टी के लिए भावनात्मक मुद्दा है, क्योंकि 22 अगस्त के ही दिन डा. श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने कश्मीर मुद्दे पर अपना बलिदान दिया था। प्रस्ताव पार्टी महामंत्री रामस्वरूप शर्मा ने प्रस्तुत किया तथा उपाध्यक्ष कृपाल परमार ने उसका अनुमोदन किया।

You might also like