बरसाती पानी से एलर्जी की दस्तक

दीपिका शर्मा, शिमला

भारी बरसात ने जहां हिमाचल को पानी-पानी कर दिया है, वहीं इस बारिश के कारण एलर्जी की बीमारी ने तीन वर्षों का रिकार्ड तोड़ दिया है। त्वचा, मेडिसिन, चेस्ट एंड टीबी ओपीडी के तहत 40 दिनों में तीन हजार लोग एलर्जी के कारण प्रभावित हो चुके हैं, जो दो वर्षों के मुकाबले दस गुना अधिक बताए गए हैं। आईजीएमसी त्वचा विशेषज्ञ डा. जीके वर्मा ने इसकी पुष्टि की है कि अस्पताल में एलर्जी प्रभावितों का  आंकड़ा बढ़ता जा रहा है। कारण यह है कि बरसात के दौरान पानी में ऐसे विषाणु मिले होते हैं। जो त्वचा को प्रभावित करते हैं। इसके अलावा मेडिसिन विशेषज्ञ डा. जितेंद्र भी कहते हैं कि बरसात के मौसम में एलर्जी के प्रभाव में लोग सबसे ज्यादा आते हैं। सभी जिला अस्पतालों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक 40 दिनों में कुल तीन हजार हिमाचली जनता एलर्जी की चपेट में आ गई है।

वायरल, गले का इन्फेक्शन, छाती, आंखों और त्वचा की एलर्जी इसमें मुख्य हैं। अस्पताल आने वाले प्रतिदिन पीडि़तों में 40 फीसदी मरीज वायरल की चपेट में आ रहे हैं। वहीं 20 फीसदी रोगी अस्पताल में इलाज करवाने पहुंच रहे हैं, जो सांस के रोग से प्रभावित हैं। इसके  अलावा 30 फीसदी पीडि़त वह प्रतिदिन अस्पताल में इलाज करवाने पहुंच रहे, जिन्हें त्वचा की एलर्जी हो रही है। दस फीसदी आंखों की एलर्जी से प्रभावित हुए हैं।

You might also like