भगवा ब्रिगेड के आगे सब ढेर

जितेंद्र कुंवर, ऊना

केंद्रीय छात्र  संघ चुनावों में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने अपना परचम लहराते हुए जिला के सात में से छह कालेजों में क्लीन स्वीप की है, जबकि एनएसयूआई केवल एक कालेज में बमुश्किल पैनल जीत पाई है। हिमोत्कर्ष कालेज में इस बार भी निर्दलीय पैनल सर्वसहमति से निर्वाचित हुआ है। छात्र संघ चुनावों में भगवा आंधी ने एनएसयूआई व एसएफआई को तो चारों खाने चित किया ही, अंब व चिंतपूर्णी कालेजों में हिंदोस्तान विद्यार्थी सेना को भी जमीन सुंघा दी।

जिला मेें सात महाविद्यालय में हुए मतदान में भगवा ब्रिगेड ने छह में शानदार जीत दर्ज करते हुए पूरे पैनल जीते, वहीं एनएसयूआई केवल एक कालेज में पैनल जीत पाई। छात्र संघ चुनावों में एसएफआई इस बार खाता खोलने में भी नाकाम रही है। एबीवीपी ने सात कालेजों में पैनल के 28 पदों पर हुए चुनावों में 24 में जीत दर्ज की,जबकि एनएसयूआई ने चार में जीत दर्ज की। हिंदुस्तान विद्यार्थी सेना व एसएफआई के लिए यह चुनाव निराशाजनक साबित हुए हैं। एबीवीपी ने इस बार भटोली, अंब व दौलतपुर चौक में वापसी करते हुए एनएसयूआई को पराजित किया तथा पैनल के सभी पदों पर जीत दर्ज की, जबकि ऊना, बंगाणा व चिंतपूणी में भगवा ब्रिगेड ने अपना कब्जा बरकरार रखा। बीटन कालेज में विद्यार्थी परिषद को निराशा हाथ लगी। एनएसयूआई ने बीटन कालेज में पूरा पैनल जीत कर वापसी दर्ज की। एसएफआई जिला ऊना में इस दफा भी कोई पद नहीं जीत पाई, हालांकि ऊना कालेज में एसएफआई ने एबीवीपी को कड़ी टक्कर देकर अपने आधार को मजबूत किया है।

हिंदोस्तान विद्यार्थी सेना के लिए ये चुनाव निराशाजनक रहे हैं तथा चिंतपूर्णी व अंब कालेज में पैनल खड़ा  करने के बावजूद एक भी सीट नहीं निकाल पाए। छात्र संघ चुनावों के नतीजे जिला में कांग्रेस पार्टी के लिए निराशाजनक साबित हुए हैं। कांग्रेस समर्थित छात्र संगठन एनएसयूआई इस बार ऊना व बंगाणा कालेजों में तो अपने पैनल भी नहीं उतार पाई, जबकि अन्य कालेजों में उसे कड़ी मात झेलनी पड़ी।

एनएसयूआई का अंब कालेज में अजेय माने जाने वाला दुर्ग भी इस बार ढह गया, वहीं भटोली कालेज में पैर जमाने के अरमान भी हवा हो गए। एनएसयूआई के लिए बीटन कालेज राहत देने का एकमात्र सहारा बना रहा, लेकिन यहां पर भी नजदीकी मुकाबिले ने एनएसयूआई की चिंताएं बढ़ा दी हैं।

You might also like