भरी बरसात में भी भूर प्‍यासा

सरकाघाट। आईपीएच विभाग की मेहरबानी से धर्मपुर क्षेत्र की भूर पंचायत के तीन गांवों में बरसात के बावजूद लोगों के हलक सूखे पडे़ हैं। विभागीय लापरवाही के चलते लोगों को छप्पड़ों का पानी पीने को मजबूर होना पड़ रहा है। मामले के तहत आईपीएच विभाग धर्मपुर द्वारा पहले तो झंगी खड्ड में हैंडपंप लगाने का कारनामा दिखाया, फिर लोगों के विरोध के बाद गांव से करीब दो किलोमीटर दूर छो नाला जगह के वीराने में हैंडपंप लगा दिया। खड्ड में लगाया हैंडपंप वर्षों से किसी के भी काम नहीं आया, जबकि दूसरा हैंडपंप जो गांव से दूर लगाया गया है, उसका पानी पीने के लायक न होने से ग्रामीणों को परेशानी झेलनी पड़ रही है। भूर पंचायत प्रधान सरला राठौर के अनुसार पंचायत में इसके अलावा कोई भी हैंडपंप नहीं लगा है। झंगी, दलित बस्ती और झंगी बस स्टाप पर आने वाले यात्रियों और स्थानीय ग्रामीणों को हैंडपंप की सुविधा से वंचित रहना पड़ रहा है। स्थानीय ग्रामीणों पवन, विनय, दीनानाथ, रमेश और प्रवीना देवी ने बताया कि हैंडपंप से गंदला पानी आने पर लोगों को मजबूरन दूषित पानी पीने को मजबूर होना पड़ रहा है। उन्होंने खड्ड में लगाए हैंडपंप को गांव में लगाने और दूसरे हैंडपंप के मटमैले उगल रहे पानी को ठीक करवाने की विधायक व विभाग से गुहार लगाई है। इस संदर्भ में आईपीएच विभाग के एक्सईएन बीएस राणा ने कहा कि गांव में बरसात के बाद हैंडपंप लगा दिया जाएगा। सहायक अभियंता धर्मपुर एलआर शर्मा ने कहा कि प्रभावित गांवों को पर्याप्त पेयजल सप्लाई दी जा रही है। पेयजल सप्लाई में कोई भी अनियमितताएं बरती गई होंगी, तो वह जांच करेंगे। हैंडपंप को अति शीघ्र साफ करवा कर लोगों को स्वच्छ पानी उपलब्ध करवाने को विभाग कृतसंकल्प है।

You might also like