भाई की लाश को बांधी राखी

मोहिंद्र कपूर, भरमौर

रविवार को खड़मुख में मोटरसाइकिल हादसे में लापता हुए अमित कुमार का शव बरामद हो गया है। सड़क हादसे के दौरान अमित कुमार रावी नदी में जा गिरा था।

सोमवार को कुछ लोगों ने जब उसके शव को बग्गा डैम में देखा, तो इसकी सूचना भरमौर पुलिस को दी। मंगलवार को पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के बाद उसके परिजनों को सौंप दिया। शव जैसे ही घर लाया गया, तो मृतक भाई की सूनी कलाई पर उसकी चार बहनों ने राखी बांधी। यह दृश्य देखकर वहां उपस्थित लोगों का कलेजा फट गया।

बहनों की आखिरी राखी देखकर पूरा राजौर गांव सदमें में डूब गया। इस मंजर को देखकर हर व्यक्ति की आंख भर आई। इन अभागिन बहनों को क्या मालूम था कि रक्षा बंधन का दिन उनके लिए ऐसा मनहूस बनकर आएगा कि उन्हें मरे भाई की कलाई पर राखी बांधनी पड़ेगी।  उधर, अमित अपने मां-बाप का इकलौत बेटा था, जो उनके बुढ़ापे का सहारा था। जबकि अमित की चार बहनें हैं। इन बहनों को यह रक्षाबंधन  हमेशा अपने भाई की याद दिलाता रहेगा। शायद भगवान को यही मंजूर था कि बहनें अपने भाई को राखी जरूर बांधें, चाहे वह भाई मृतक ही हो। नहीं तो रावी के तेज बहाव में दो दिन के अंदर शव का मिलना मुश्किल था।

You might also like