मंडी-कुल्लू में सजी बिसात, छात्र संसद का फैसला आज

दिव्य हिमाचल ब्यूरो, मंडी

एससीए चुनावों को लेकर कुल्लू-मंडी के कालेजों की छात्र राजनीति गरमा गई है। छात्र संगठन छात्रों को अपने-अपने तरीके से रिझाने में जुटे हैं। शुक्रवार को एससीए चुनावों के लिए मतदान सुबह साढ़े नौ बजे शुरू
होगा, जो कि दोपहर डेढ़ बजे तक जारी रहेगा। चुनावों के नतीजे शाम साढ़े चार बजे घोषित कर दिए जाएंगे। किस छात्र नेता को ताज मिलता है, इसका पता तो फिलहाल शुक्रवार शाम को ही लग पाएगा। मंडी जिला के सरकारी और गैर सरकारी कालेजों में शुक्रवार के दिन छात्र राजनेताओं का चुनाव किया जाएगा। इसके लिए सभी कालेजों में प्रबंध पूरे कर लिए गए हैं। शुक्रवार की शाम ही छात्र राजनीति के सारे समीकरण साफ हो जाएंगे और नए चेहरे भी सामने आ जाएंगे। गुरुवार के दिन चुनाव प्रचार का अंतिम दौर जिला में शांतिपूर्ण रहा है। गुरुवार की शाम चुनाव प्रचार थमने के बाद आधी रात तक छात्र नेता और छात्र संघों के कार्यकर्ता जीत हासिल करने के लिए कालेज में पढ़ने वाले विद्यार्थियों के घरों पर संपर्क साधते रहे। मंडी जिला के विभिन्न कालेजों में एबीवीपी, एनएसयूआई एसएफआई ने अपने पैनल उतारे हुए हैं, जबकि लडभड़ोल और रिवालसर के कालेजों में नामांकन प्रक्रिया के बाद ही तस्वीर साफ हो चुकी है। रिवालसर में एबीवीपी का पूरा पैनल निर्विरोध चुना गया है, जबकि लडभड़ोल में एनएसयूआई ने कब्जा कर लिया है। जिला में शेष बचे अन्य कालेजों में मुख्य मुकाबला एबीवीपी और एनएसयूआई के बीच में ही है, जबकि एसएफआई अपनी उपस्थिति दर्ज करने के लिए बड़ा उल्टफेर करने की हसरतें पाले हुए है। मंडी के वल्लभ कालेज सहित, सुंदरनगर के संस्कृत कालेज, लंबाथाच, बासा, धर्मपुर, सरकाघाट और जोगिंद्रनगर में प्रत्यक्ष रूप से तिकोना मुकाबला ही सामने आ रहा है। जिला के सभी कालेजों में शुक्रवार के दिन होने वाले मतदान के लिए सारी औपचारिकताएं पूरी कर ली हैं। चुनाव प्रचार थमने के बाद डोर-टू-डोर संपर्क साधने के अलावा मोबाइल फोन पर भी मतदाताओं को आकर्षित करने के लिए एसएमएस का सहारा लिया जा रहा है। मंडी में एनएसयूआई और एबीवीपी के बीच दो मर्तबा खूनी झड़पें तक हो चुकी हैं। दोनों ही छात्र संघ इस मर्तबा जीत हासिल करने के लिए सिर-धड़ की बाजी लगाए हुए हैं और कोई भी मौका गंवाने को तैयार नहीं है।

You might also like