मतदाताओं की सूची जारी

दिव्य हिमाचल ब्यूरो, शिमला

केंद्रीय छात्र संघ चुनाव के लिए प्रदेश विश्वविद्यालय समरहिल व राजधानी के सभी कालेजों ने मतदाता छात्र-छात्राओं की अंतिम सूची मंगलवार को जारी कर दी है। इसी के साथ चुनाव प्रचार अभियान ने भी जोर पकड़ लिया है।  राजनीति गलियारों में एससीए चुनावों को लेकर चर्चा जोरों पर है। छात्र संगठन वोटर लिस्टों के आधार पर अभी से जीत के समीकरण तय करने में जुट गए हैं। जानकारी के मुताबिक प्रदेश विश्वविद्यालय में 2,830 छात्र-छात्राओं को मतदान का हक दिया गया है, जबकि संजौली कालेज में 1492 छात्र, आरकेएमवी में 3,691 छात्राएं, कोटशेरा कालेज में 1,879 छात्र-छात्राएं तथा सांध्यकालीन कालेज में 550 छात्र-छात्राएं मत का प्रयोग करेंगे। केंद्रीय छात्र संघ चुनाव की ताल के साथ छात्र डोर-टू-डोर प्रचार में जुट गए हैं। दिनभर परिसर में प्रचार के बाद छात्र संगठन छात्रों के घर-घर जाकर वोट मांग रहे हैं। एससीए चुनाव प्रचार मंगलवार को ऐतिहासिक रिज मैदान व माल रोड तक पहंुच गया है। राजधानी के कालेजों के तीनों संगठनों के कार्यकर्ता अपने पैनल के साथ माल रोड व रिज मैदान पर वोट मांगते हुए देखे गए। मंगलवार को परिसर में गुप चुप बैठकों का दौर भी जारी रहा। बैठकों में एसएफआई, एबीवीपी और एनएसयूआई के कार्यकर्ता नामांकन को लेकर रणनीति बनाते देखे गए।  एसएफआई के जिला अध्यक्ष दलीप खाची व सचिव कपिल भारद्वाज ने कहा कि संगठन न केवल विवि, बल्कि जिला के सभी कालेजों में फिर से लाल झंडा फहराएगा। उन्होंने प्रदेश सरकार को स्वतंत्र ढंग से चुनाव कराने की चेतावनी दी है और छात्र राजनीति को छात्रों तक सीमित रखने की सलाह दी है। उन्होंने कहा कि एसएफआई इस बार राजधानी के कालेजों में ऐतिहासिक जीत दर्ज करेगी। विद्यार्थी परिषद विवि इकाई के अध्यक्ष नरेंद्र ने दावा किया है कि संगठन अपने काम के बूते पूरे जिलाभर व विवि से एसएफआई का सूपड़ा साफ करेगी।  उन्होंने कहा कि एबीवीपी ने साम्यवादी विचारधारा को उखाड़ फेंकने के लिए कड़ी मेहनत की है, जिसका नतीजा यह है कि आम छात्र एबीवीपी का समर्थन कर रहा है। उधर, एनएसयूआई के निगम भंडारी ने कहा कि संगठन एसएफआई और एबीवीपी को धूल चटाने की पूरी तैयारियां कर चुका है। राजधानी के सभी कालेजों में एनएसयूआई क्लीन स्वीप करेगी। उन्होंने दावा किया कि चुनाव प्रचार के दौरान उन्हें छात्रों का भरपूर सहयोग मिल रहा है।

You might also like