मनरेगा पर खर्चे 176.18 लाख

हमीरपुर। जिला में चालू वित्त वर्ष के दौरान महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार योजना गारंटी अधिनियम के अंतर्गत विभिन्न विकास कार्यों के निर्माण पर 2026.323 लाख रुपए की राशि व्यय की जाएगी। यह जानकारी जिला ग्रामीण विकास अभिकरण की गवर्निंग बॉडी की बैठक की अध्यक्षता करते हुए उपायुक्त अभिषेेक जैन ने दी। उन्होंने बताया कि मनरेगा के अंतर्गत चालू वित्त वर्ष में अब तक विभिन्न विकास कार्यों के निर्माण पर 176.18 लाख रुपए की राशि व्यय कर 92 हजार श्रम दिवस अर्जित किए गए। उन्होंने बताया कि चालू वित्त वर्ष में अब तक 69703 परिवारों को जॉब कार्ड जारी किए गए हैं। इनमें 3861 परिवारों ने रोजगार की मांग की और शत-प्रतिशत परिवारों को रोजगार उपलब्ध करवा दिया गया। उन्होंने कहा कि हमीरपुर की सभी 229 पंचायतें पूर्ण स्वच्छ घोषित की जा चुकी हैं। इनमें से 35 पंचायतों को राष्ट्रीय ग्राम पुरस्कार से सम्मानित किया गया है और 22 पंचायतों को एमवीएसएसपी पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। उन्होंने कहा कि हमीरपुर में 340 विद्यालयों में तथा 595 आंगनबाड़ी केंद्रों में शौचालयों का निर्माण किया गया है। श्री जैन ने कहा कि जिला में इंदिरा आवास योजना के अंर्तगत गत वर्ष 394 आवास गृहों का निर्माण किया गया। इन पर 127 लाख रुपए व्यय किए गए। उन्होंने कहा कि अटल आवास योजना के अंतर्गत 533 आवास गृहों का निर्माण किया गया। उन्होंने कहा कि स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार योजना के अंतर्गत 202 बेरोजगारों को अपना काम धंधा शुरू करने के लिए 69.32 लाख रुपए का ऋण उपलब्ध करवाया गया। उन्होंने आग्रह किया कि पंचायतों में कार्यरत सभी सरकारी संस्थानों/कार्यालयों जिनमें विद्यालय पटवारघर, आंगनबाड़ी केंद्र, पंचायतघरों और स्वास्थ्य केंद्रोंें के रास्तों को मनरेगा के तहत चौड़ा और पक्का करवाया जाए। उन्होंने कहा कि ये सभी कार्य औपचारिकताएं पूर्ण कर ग्राम सभा में अनुमोदित करवाएं, जिससे इन संस्थानों में जाना हर व्यक्ति के लिए आसान हो जाए। बैठक में जिला ग्रामीण विकास अभिकरण के परियोजना अधिकारी अजीत भारद्वाज, नाबार्ड के एएलएम आरएल नेगी, जिला उद्योग केंद्र के प्रबंधक पीसी भाटिया, जिला कल्याण आधिकारी, केसीसी बैंक के एजीएम, एमएम चौहान, जिला परिषद अध्यक्ष मलकां धीमान, बीना शर्मा (सदस्य), पवन धीमान (सदस्य) के अतिरिक्त खंड विकास अधिकारी उपस्थित थे।

You might also like