यमुना नदी खतरे के निशान से ऊपर

नई दिल्ली हरियाणा के हथिनीकुंड बैराज से काफी मात्रा में पानी छोडे़ जाने और दिल्ली में पिछले दो दिनों के दौरान रिकार्ड बारिश से यमुना नदी शनिवार को खतरे के निशान को पार करके 17 सेंटीमीटर ऊपर बह रही है। दिल्ली सरकार के बाढ़ नियंत्रण विभाग के प्रमुख अभियंता वीके तोमर ने बताया कि पूर्वी दिल्ली के गांधीनगर स्थित लोहे के पुल पर यमुना नदी का जलस्तर फिलहाल 205 मीटर हैं, जो खतरे के निशान से 17 सेंटीमीटर अधिक है। यहां खतरे का निशान 204.83 मीटर है। श्री तोमर ने बताया कि शाम छह बजे तक जलस्तर में 10 सेंटीमीटर और वृद्धि का अनुमान है। इसके बाद जलस्तर कुछ समय स्थिर रहने के बाद घटने की उम्मीद है। उन्होंने बताया कि बाढ़ को देखते हुए यमुना की तलहटी में रहने वालों को सतर्क कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि फिलहाल बाढ़ से कोई गंभीर खतरा नहीं है और एहतियात के तौर पर सभी तैयारियां पूरी हैं। हथिनीकुंड बैराज से गुरुवार को 2.8 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया था। पानी के दिल्ली पहुंचने में लगभग 72 घंटे का समय लगता है। श्री तोमर ने बताया कि अब 30-35 हजार क्यूसेक पानी बैराज से छोड़ा जा रहा है।

You might also like