रिकांगपिओ में एनएसयूआई विजयी

दिव्य हिमाचल ब्यूरो, रिकांगपिओ

रिकांगपिओ महाविद्यालय की छात्र  राजनीति पर पहली बार एनएसयूआई ने अपना दमखम दिखाया। सचिव पद को छोड़ शेष पैनल पर एनएसयूआई के योद्धा अपने प्रतिद्वंद्वी एसएफआई व एबीवीपी को मात देने में कामयाब रहे। रिकांगपिओ महाविद्यालय का यह पहला इतिहास है कि एनएसयूआई इतने बड़े पैनल के साथ अपने प्रतिद्वंद्वी छात्र संगठनों को जमीन सुंघाने में कामयाब रही। पूर्व के इतिहास को देखें, तो इस महाविद्यालय पर हमेशा  एबीवीपी तथा एसएफआई का ही राज रहा है,  लेकिन इस बार महाविद्यालय के छात्र-छात्राओं ने ऐसा पलटा मारा कि एनएसयूआई को सिरआंखों पर बैठा कर पूरा समीकरण ही चेंजकर दिया।

महाविद्यालय के जिस सचिव पद पर एबीवीपी का छात्र काबिज हुआ है, वास्तव में उस पद पर मुख्य मुकाबला एबीवीपी के मोहित तथा एनएसयूआई की छात्रा शवनम के बीच था। दोनों को 151-151 मत पडे़। डेट ऑफ बर्थ के आधार पर एबीवीपी के छात्र मोहित को विजयी करार दिया गया अन्यथा पूरे पैनल पर एनएसयूआई का ही दबदबा होता। छात्र चुनाव के दौरान अध्यक्ष पद के लिए एनएसयूआई के दयाला सिंह को 170 मत पडे़, जबकि एबीवीपी के दिनेश कुमार को 140 मत तथा एसएफआई के हीरा सिंह को मात्र 33 मत पडे़। 

उपाध्यक्ष पद के लिए हुए मतदान में एनएसयूआई के दीपक को 166 मत, एबीवीपी की मीना को 129 मत तथा एसएफआई के छेरिंग नोरकित को मात्र 49 मत पडे़। संयुक्त सचिव पद पर एनएसयूआई के विशालको 161 मत, एबीवीपी के पदम प्रकाश को 137 मत तथा एसएफआई के तंजीन को 47 मत पड़े। एनएसयूआई क ी इस बड़ी जीत के बाद एनएसयूआई के छात्र-छात्राआें ने रिकांगपिओ बाजार मेंरैली निकाली।

You might also like