वोटिंग में धर्मपुर कालेज अव्वल

दिव्य हिमाचल ब्यूरो, मंडी

छात्र संसद चुनने को 60 प्रतिशत विद्यार्थियों ने ही अपने मताधिकार का प्रयोग किया है। शुक्रवार के दिन करवाए गए मतदान के दौरान धर्मपुर कालेज में सबसे अधिक विद्यार्थियों ने वोट डाले हैं और यहां पर 97 प्रतिशत मतदान किए जाने से जिला के सहारे रिकार्ड ध्वस्त हो गए हैं। शुक्रवार के दिन मतदान की प्रक्रिया सुबह नौ बजे शुरू हुई तो मतदान बूथों पर छात्रों का जमावड़ा देखने को मिल रहा था। मतदान करने वालों की रफ्तार कम हो गई। जिला में 60 फीसदी मतदान होने को छात्र संघ अपने-अपने तरीके से ले रहे हैं। एबीवीपी, एनएसयूआई और एसएफआई के कार्यकर्ता यही मान रहे हैं कि ग्रामीण क्षेत्रों से आने वाले छात्रों ने मतदान प्रक्रिया से किनारा किया है, जिसके कारण मतदान की प्रतिशतता कम रही है।

मंडी के वल्लभ कालेज सहित जोगिंद्रनगर, सुंदरनगर व करसोग कालेज में औसत मतदान 60 फीसदी के आसपास हो रहा है। पद्धर कालेज में मतदान का आंकड़ा 92 फीसदी तक रहा है, जबकि सरकाघाट में औसत मतदान मात्र 57.5 प्रतिशत रिकार्ड किया गया है। मंडी के बासा, लंबाथाच, सुंदरनगर के संस्कृत कालेज में भी मतदान के लिए छात्रों में ज्यादा उत्साह देखने को नहीं मिला है।

यह ठीक है कि धर्मपुर और पद्धर जैसे नए खुले कालेजों में मतदान 90 फीसदी से ऊपर गया है, लेकिन इन कालेजों में पढ़ने वाले छात्रों की औसत संख्या ही पांच सौ कम है। जिला के कालेजों में औसत मतदान 60 फीसदी रहा है। बहरहाल 60 फीसदी मतदान ने कई प्रत्याशियों के चेहरे की हवाइयां उड़ाई हुई हैं। ऐसे में जीत किस को हासिल होगी यह प्रत्याशी खुद भी बताने को तैयार नहीं हैं।

You might also like