शिमला में भरपूर प्रेशर से मिलेगा पानी

नगर संवाददाता, शिमला

शहर में लोगों को पानी के असमान वितरण की समस्या और न ही पानी के प्रेशर की समस्या से लोगों को परेशान होना पड़ेगा। नगर निगम शिमला जर्मनी की कंपनी वैग से शहर में पानी की सप्लाई को लेकर पेश आ रही समस्या पर पार पाने के लिए काम लेगा। जर्मनी की यह कंपनी प्रेशर मैनेजमेंट सिस्टम पर काम कर रही है और यही वजह है कि निगम शहर में पानी के असमान वितरण तथा पानी के प्रेशर को सुदृढ़ करवाने के लिए वैग से काम ले रही है। वैग ने ही इस काम को करने के लिए निगम को प्रस्ताव भेजा था, जिसे स्वीकार करते हुए निगम ने पहले एक वार्ड में डेमो देेने की बात कही। वैग ने निगम के प्रस्ताव को स्वीकार करते हुए पंाच वार्डों में काम करने की हामी भर दी है। सारी औपचारिकताएं पूरी होने के बाद इस दिशा में काम करना शुरू कर दिया जाएगा। निगम की महापौर मधु सूद ने बताया कि शहर में लोग पानी के असमान वितरण से  काफी परेशान हंैं। कहीं पर पानी का इतना जबरदस्त फ्लो है कि उनके यहां टंकियों में पानी ओवर फ्लो हो जाता है, तो कहीं पर लोगों को मुश्किल तीन बाल्टियां भी नसीब नहीं हो पातीं। उन्होंने बताया कि यह सब पानी के प्रेशर की वजह से है। प्रेशर मैनेजमेंट के अलावा वैग कंपनी पानी की लीकेज व मीटर बदलवाने का भी पूरा काम करेगी। वैग ने इन सभी कामों को करने से पहले निगम से पानी की विस्तृत रिपोर्ट मांगी है। आईपीएच विभाग द्वारा  निगम को हर रोज कितना पानी सप्लाई किया जाता है। निगम के पास कितना पहुंचता है तथा निगम उसे आगे कैसे वितरित करती है। शहर में कितने हाउस होल्ड हैं, जिनमें मीटर के कनेक्शन लगे हुए तथा इनमें कितने खराब हैं। आदि कई बातों का पता लगाने के लिए वैग ने निगम से डाटा जुटाने को कहा है। वैग कंपनी के संजीव डोगरा ने बताया कि शहर में मीटर की खराबी पानी की लीकेज, शहर में पानी के असमान वितरण का एक कारण है। इस पर काम करने के लिए कंपनी कुसुम्पटी तथा साथ लगते क्षेत्रों में मीटर बदल कर पानी की सप्लाई का पता लगाएगी।

You might also like