सज्जन को बचाने के लिए दिखावटी जांच हुई

एजेंसियां, नई दिल्ली

सीबीआई ने सुप्रीम कोर्ट से कहा कि दिल्ली पुलिस के दंगा रोधी विशेष प्रकोष्ठ ने 1984 के सिख विरोधी दंगा मामलों में कांग्र्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व सांसद सज्जन कुमार को वस्तुतः बचाने की खातिर दिखावटी जांच और अभियोग चलाया। श्री कुमार इस मामले में प्रमुख आरोपी हैं। शीर्ष अदालत के समक्ष दायर हलफनामे में एजेंसी ने न्यायालय द्वारा 13 अगस्त को लगाई गई रोक को हटाने को कहा और दलील दी कि इसने कांग्रेस नेता के खिलाफ अभियोजन को गंभीर रूप से पक्षपातपूर्ण बनाया है। न्यायमूर्ति पी सदाशिवम और न्यायमूर्ति बीएस चौहान की पीठ ने हलफनामे को ऑन रिकार्ड लेते हुए एजेंसी की अर्जी पर अंतिम सुनवाई की तारीख सात सितंबर को निर्धारित की। सीबीआई ने दिल्ली छावनी थाने के तहत हुए दंगों के मामले में कुमार के खिलाफ अभियोग चलाने की मांग की है।

You might also like