सिरमौर ने खनन से कमाए साढे़ 15 करोड़

दिव्य हिमाचल ब्यूरो, नाहन

जिला सिरमौर में खनन से प्रति वर्ष करोड़ों रुपए का राजस्व मिलता है। गत दो वर्षों में जिला से सरकार को 15 करोड़ 42 लाख रुपए का राजस्व प्राप्त हुआ है। यह जानकारी जिला मुख्यालय में आयोजित जिला खनन समिति की बैठक में उद्योग मंत्री किशन कपूर ने दी। श्री कपूर ने बताया कि जिला में विभाग द्वारा निरीक्षण के पश्चात वर्ष 2009-10 में 115 मामले और वर्ष 2010-11 में अभी तक 47 मामले पकड़े गए, जिनमें से क्रमशः 109 और 47 दोषियों पर कार्रवाई भी की गई। उन्होंने खनन विभागों के अधिकारियों को नियमित रूप से निरीक्षण करने के कड़े आदेश दिए और कहा कि माइनिंग गार्डों को अपने-अपने क्षेत्रों का दौरा नियमित रूप से करना चाहिए, जिससे अवैध खनन गतिविधियों पर अंकुश लगाया जा सकेगा। उन्होंने अवैध खनन को रोकने में सहयोग देने के लिए सभी विभागों का आह्वान किया और निर्देश दिए कि सभी विभागों के आपसी समन्वय से अवैध खनन को रोकने के सशक्त प्रयास किए जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि अवैध खनन से सबसे अधिक नुकसान लोक निर्माण और सिंचाई एवं जनस्वास्थ्य विभागों को हो रहा है। श्री कपूर ने खनन विभाग के अधिकारियों को आदेश दिए कि खनन गतिविधियों और नियमों के बारे में व्यापक प्रचार-प्रसार करें, ताकि इस बारे में जागरूकता आए। उन्होंने कहा कि खंड स्तर तक जिला में जागरूकता कार्यशालाओं का आयोजन किया जना चाहिए, जिससे सभी को खनन गतिविधियों और नियमों की जानकारी प्राप्त हो सकेगी। बैठक में मुख्य संसदीय सचिव चौधरी सुखराम, हिमाचल प्रदेश राज्य सहकारी बैंक के अध्यक्ष चंद्र मोहन ठाकुर, उपायुक्त पदम सिंह चौहान, अतिरिक्त उपायुक्त लोकेंद्र चौहान, पुलिस अधीक्षक पीडी प्रसाद सहित जिला के सभी अधिकारी उपस्थित थे।

You might also like