2000 छात्र नहीं करेंगे मतदान

अजय कुमार, मंडी

जिला में हो रहे छात्र संघ चुनावों से दो हजार के करीब छात्र मतदान से वंचित रहेंगे। मंडी के कालेजों में शुक्रवार को मतदान होगा और देर शाम तक छात्र राजनीति के चेहरे सामने आएंगे। इस चुनाव में दो हजार के करीब छात्र मतदान से वंचित रहेंगे। मंडी जिला के कालेजों में से सरकाघाट एकमात्र ऐसा कालेज है, जहां सबसे अधिक छात्र मतदान से दूर रखे गए हैं। यहां पर कुल 1129 छात्र मतदान नहीं कर पाएंगे और न ही छात्र नेताओं का भविष्य तय कर पाएंगे। विश्वविद्यालय द्वारा तय की गई शर्तों के कारण ही कम और बढ़ी उम्र के छात्रों को मतदान से रोका गया है। इसके अलावा निर्धारित तिथि के बाद प्रवेश पाने वाले छात्रों से भी मतदान का अधिकार छिन लिया गया है। विश्व विद्यालय की इन्हीं शर्तों के चलते सरकाघाट कालेज के 1129 छात्र वोट नहीं डाले पाएंगे। इसी तरह से मंडी के वल्लभ कालेज के 573 छात्र मतदान से दूर रहेंगे। सुंदरनगर के कालेज में 30 छात्रों को मतदान से वंचित रखा गया है। संस्कृत कालेज सुंदरनगर के सौ छात्र मतदान नहीं कर सकेंगे। लंबाथाच में 20, धर्मपुर में तीन, पद्धर में 35, जोगिंद्रनगर में 300 व करसोग में 250 छात्र तय नियमों व शर्तों को पूरा नहीं कर पा रहे हैं। ऐसे में इन छात्रों को मतदान का अधिकारी करार नहीं दिया गया है। विश्वविद्यालय द्वारा 18 अगस्त के बाद प्रवेश पाने वाले छात्रों को मतदान का हक नहीं दिया गया है। इसके अलावा 17 वर्ष से कम आयु वाले प्रवेश पाने वाले छात्रों सहित 22 साल की उम्र में भी कालेज में डेरा डालने वाले छात्रों को वोट देने से दूर रखा गया है। विश्वविद्यालय की इन्हीं शर्तों के चलते दो हजार छात्र राजनीति की दिशा निर्धारण से दूर रह गए हैं। बहरहाल छात्र राजनीति चरम पर है और नेता जीत की तलाश कर रहे हैं।

You might also like