26 घंटे बाद नाले से निकाला बाइक सवार

कार्यालय संवाददाता, परवाणू

मौत और जिंदगी के बीच करीब 26 घंटे तक झूलने के बाद आखिरकार जिंदगी जीत गई। गांव चम्मो का रहने वाला सुरेंद्र कुमार पुत्र दीवान चंद शुक्रवार को सुबह जब अपने काम पर जा रहा था, तो अचानक मोटरसाइकिल दुर्घटना का शिकार हो गया और वे अपने मोटरसाइकिल समेत करीब 300 फुट नीचे गहरे नाले में लुढ़क गया। गहरी खाई में लुढ़कने के बाद सुरेंद्र कुमार का कूल्हा टूट गया, जिससे वह अचेत व्यवस्था में जमीन पर पड़ा रहा। परिजनों ने बताया कि सुरेंद्र कुमार सुबह पांच बजे के बाद जाबली स्थित एक औद्योगिक इकाई में काम पर गया, तो देर सायं तक घर वापस नहीं लौटा। परिजन रात को उसको ढूंढने निकले, तो उनको कोई सफलता नहीं मिली। रात को थक-हारकर परिजन वापस घर आ गए। सुबह फिर उसकी तलाश शुरू हुई, तो सुरेंद्र कुमार नाले में घायल अवस्था में पड़ा हुआ है। इस मामले में ईएसआई अस्पताल परवाणू के चिकित्सा अधिकारी डा. हरविंद्र सिंह ने बताया कि सुरेंद्र कुमार को घायल हालत में यहां लाया गया था, जिसका कूल्हा टूट गया।

You might also like