75 फीसदी हाजिरी, तभी एग्जाम

सोलन। केंद्रीय विद्यालय सुबाथू की शनिवार को आयोजित अभिभावक-अध्यापक संघ की बैठक में विद्यालय व छात्रों की बेहतरी से संबंधित अनेक निर्णय लिए गए। बताया गया कि सीबीएसई के नियमानुसार 75 प्रतिशत से कम हाजिरी वाले छात्रों को वार्षिक परीक्षा में बैठने नहीं दिया जाएगा। विद्यालय की प्रधानाचार्य संगीता शर्मा की अध्यक्षता में आयोजित पीटीए बैठक में कई मुद्दों पर चर्चा की गई। प्रधानाचार्य ने बताया कि मानव संसाधन मंत्रालय ने छात्रों की पढ़ाई के साथ-साथ उनके सर्वांगीण विकास के लिए शिक्षा नीति में कई प्रकार के बदलाव किए हैं, जो स्कूलों में लागू कर दिए गए हैं।

उन्होंने बताया कि निरंतर सतत मूल्यांकन (सीसीई) प्रणाली में छात्र-छात्रा को पढ़ाई ही नहीं, बल्कि अन्य गतिविधियों, खेलकूद, सांस्कृतिक कार्यक्रम, बोलचाल, आचार-व्यवहार, साफ-सफाई, स्कूल ड्रेस, बालों का स्टाइल, अध्यापकों व अन्य छात्रों से उसके व्यवहार आदि का भी मूल्यांकन किया जाएगा और वार्षिक परीक्षा में यह अंक भी उसे बेहतर ग्रेड दिलाने में अहम भूमिका निभाएंगे। बैठक के दौरान फैसला लिया गया कि स्कूल से बंक मारने वाले छात्रों पर कड़ी निगरानी रखी जाएगी। इसके अलावा स्थानीय पुलिस, होटल मालिकों व बिलियर्ड के संचालकों को भी लिखित में सूचना दी जाएगी कि किसी भी स्कूली छात्र के स्कूल समय में वहां पहुंचने पर इसकी तुरंत सूचना स्कूल प्रशासन को दें। निर्णय हुआ कि बिना किसी ठोस कारण के अब स्कूल के किसी भी छात्र को आधे दिन का अवकाश नहीं दिया जाएगा। बेतरतीब ढंग से स्कूल
ड्रेस पहनने वाले और बेहूदा हेयरस्टाइल व बंक मारने वाले छात्रों पर भी शिकंजा कसा जाएगा।

You might also like