कांगड़ा घाटी की रेलमपेल मेल…

नगरोटा सूरियां – नौकरी के जुनून के आगे इस बूढ़ी ट्रेन की जान पर ही बन आई। सीट से लेकर बोगी और पायदान से लेकर छत, जिसको जहां जगह मिली सवार हो गया। सस्ती सवारी छोड़ने के लिए कोई राजी नहीं हुआ और कांगड़ा घाटी की ट्रेन सिर से लेकर पांव तक ठसाठस भर गई। सपड़ी में सेना भर्ती के लिए निकले मतवाले युवाओं के टोले ने इस रेलगाड़ी को नगरोटा सूरियां के स्टेशन पर शिकार बनाया

You might also like