सुहाग की सलामती को मांगी दुआ

कार्यालय संवाददाता, घुमारवीं

सुहागिनों का त्योहार करवाचौथ मंगलवार को यहां बड़ी धूमधाम से मनाया गया। सुहागिनों ने पारंपरिक परिधानों में पति की दीर्घायु के लिए व्रत रखा तथा बड़ी संख्या में सुहागिनों ने मंदिरों में जाकर पूजा-अर्चना की। साथ ही परिवार की खुशहाली की कामना की। इस दौरान मंदिरों व बाजारों में काफी रौनक रही। महंगाई के दौर के चलते भी महिलाओं ने काफी खरीददारी की। करवाचौथ के व्रत को लेकर महिलाओं में काफी उत्साह देखा गया। इन दिनों बाजार में काफी खरीददारी हुई। इस दौरान मनियारी व कपड़ों की दुकानों पर काफी भीड़ रही।

आसपास के ग्रामीण इलाके की महिलाएं भी मंगलवार दोपहर तक यहां बाजार में खरीददारी करती देखी गईं। सुहागिनों के लिए यह व्रत काफी महत्त्वपूर्ण माना जाता है तथा महिलाओं को साल भर इस दिन का बेसब्री से इंतजार रहता है। इस दिन सुहागिनें दुल्हन की तरह सजी होती हैं। ज्यादातर व्रत करने महिलाएं पानी भी नहीं पीतीं। रात को चांद का दीदार करने के बाद ही व्रत पूर्ण हो पाता है। सायं पूजा-अर्चना के बाद सुहागिनें इकट्ठी होकर इस व्रत के महात्म्य की कथा सुनती हैं। सुहागिनें चाहे किसी भी आयु वर्ग की होें, सभी व्रत रखती हैं तथा पति की दीर्घायु के साथ ही पुत्र प्राप्ति व पति की सुरक्षा की कामना करती हैं। सरकार द्वारा महिला कर्मचारियों को अवकाश घोषित किए जाने से खुशी का माहौल देखा गया। बहरहाल महिलाओं ने रात आठ बजे चांद के दीदार किए तथा सुहाग की लंबी उम्र की दुआ मांगी।

You might also like