दिवाली के बाद ठंडी होने लगीं प्रदेश की रातें

शिमला — दिवाली के बाद प्रदेश में ठंड बढ़ने लगी है। शिमला सहित प्रदेश के सभी क्षेत्रों के तापमान में गिरावट दर्ज की गई है। यह गिरावट सामान्य से तीन डिग्री सेल्सियस बताई जा रही है। यहां के जनजातीय और कबायली क्षेत्रों में तो मौसम लोगों की परीक्षा ले रहा है। तापमान का पारा जमाव बिंदु से नीचे चला गया है, जिससे इन क्षेत्रों में जनजीवन बुरी तरह अस्त-व्यस्त होने लग पड़ा है। अधिकतम तापमान में ही नहीं न्यूनतम तापमान में भी गिरावट दर्ज की गई है, जिससे यहां पर हाड़ कंपकंपा देने वाली ठंड महसूस की जाने लगी है। केलांग का तापमान जहां माइनस दो डिग्री पहुंच गया है, वहीं कल्पा का तापमान जमाव बिंदु पर रिकार्ड किया गया है। शिमला का तापमान भी बुधवार को लुढ़क कर छह डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। यहां का तापमान एक डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया है। सुंदरनगर, भुंतर और सोलन का तापमान चार डिग्री तक पहुंच चुका है।  ऊना का तापमान नौ डिग्री पहुंच गया है। मंडी और धर्मशाला का तापमान 10 और 11 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया है। मौसम विभाग के मुताबिक प्रदेश में सूखी ठंड का प्रकोप 16 नवंबर तक जारी है। इसके बाद प्रदेश में मौसम करवट बदलेगा। इस दिन के बाद पश्चिमी विक्षोभ प्रदेश में दस्तक दे रहा है, जो प्रदेश में सूखे के चक्र को तोड़ेगा। पहाड़ों पर जहां बर्फबारी होगी, वहीं कुछेक स्थानों पर हल्की से दरमियाना बारिश होने की बात कही जा रही है। ऊना को छोड़ प्रदेश के सभी क्षेत्रों का अधिकतम तापमान भी 25 डिग्री से नीचे चला गया। हालांकि ऊना का तापमान भी 26 डिग्री रहा, लेकिन घटता तापमान प्रदेश में ठंड को और कड़ा बना रहा है। शिमला का अधिकतम तापमान 17, सुंदरनगर का 24.3, भुंतर का 23.5, कल्पा का 13.2, धर्मशाला का 21.4, ऊना का 26.2, नाहन और सोलन का 22 तथा केलांग का अधिकतम तापमान नौ डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया।

You might also like