Divya Himachal Logo Jan 22nd, 2017

अब ‘चार्जशीट पर चर्चा’ शुरू करेगी भाजपा

‘चाय पर चर्चा’ की तर्ज पर कार्यक्रम चलाने का फैसला, जनता तक पहुंचाई जाएंगी सरकार की नाकामियां

NEWSबीबीएन— चुनावी साल में कांग्रेस की घेराबंदी में जुटी भाजपा अब चाय पर चर्चा की तर्ज पर चार्जशीट पर चर्चा कार्यक्रम शुरू करेगी, जिसके तहत बूथ से मंड़ल स्तर पर इस तरह के कार्यक्रमों का आयोजन होगा और चार्जशीट में शामिल स्थानीय व प्रदेश स्तरीय हर मुद्दे को एक-एक कर जनता के बीच पहुंचाया जाएगा। कार्यसमिति की बैठक के दौरान लोकसभा चुनाव के दौरान हिट रहे चाय पर चर्चा कार्यक्रम की तरह चार्जशीट पर चर्चा कार्यक्रम शुरू कर कांग्रेस सरकार की नाकामियों और कारनामों को जगजाहिर करने का निर्णय लिया गया है, जिसे मंडल से जिला स्तर पर चार्जशीट तैयार होने के बाद शुरू करने का प्रस्ताव है। चुनावी साल की इस पहली बैठक के दौरान भाजपा नेताओं को सत्तारूढ़ सरकार पर जनविरोधी मामलों को लेकर हर स्तर पर घेरने और केंद्र की नीतियों को पहुंचाने के लिए मंडल से जिला स्तर तक बैठकें व कार्यक्रम करने के भी निर्देश दिए। इसके अलावा प्रदेश की वर्तमान राजनीतिक परिस्थिति पर एक राजनीतिक प्रस्ताव भी पारित किया, जिसे प्रदेश उपाध्यक्ष रणधीर शर्मा ने प्रस्तुत किया और प्रदेश प्रवक्ता रितु सेठी ने अनुमोदन किया। राजनीतिक प्रस्ताव में वर्तमान कांग्रेस सरकार के चार वर्ष के कार्यकाल को अत्यंत निराशाजनक करार दिया गया और आरोप जड़ा कि इस दौरान न तो वीरभद्र सरकार ने प्रदेश का विकास किया और न ही जनता की समस्याओं का समाधान।

मोदी के दौरे पर बात

प्रधानमंत्री पांच राज्यों में होने वाले चुनावों के बाद हिमाचल के दौरे पर आएंगे, भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की बैठक के दौरान प्रधानमंत्री के आगामी दौरे को लेकर भी चर्चा हुई, वहीं कांगड़ा में होने वाले त्रिदेव समेलन के संबंध में निर्देश दिए गए।

सिंह सिर्फ घोषणा मंत्री

भाजपा का कहना है कि मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह केवल घोषणा मंत्री बनकर रह गए हैं। चार वर्षों में की गई 1300 घोषणाओं में से सिर्फ  300 पर अमल हुआ है। इसके अलावा चुनावी घोषणापत्र में जनता से किए वादों को भी पूरा नहीं किया गया। भाजपा नें जहां बेरोजगारी भत्ता देने से मुकरने को नौजवानों के साथ धोखा बताया, वहीं मजदूरों की दिहाड़ी 200 रुपए करने को भी अधूरा करार दिया।

प्रस्ताव में आरोप

भाजपा ने राजनीतिक प्रस्ताव में कानून, खनन, वन, नशा माफिया, तबादला माफिया, एचआरटीसी के सैकड़ों रूट बंद करने, शिक्षण संस्थानों में शिक्षकों व स्वास्थ्य संस्थानों में डाक्टरों की  कमी सहित सड़क व बिजली-पानी जैसी मूलभूत आवश्यकताओं की पूर्ति पर भी वर्तमान सरकार को घेरा है।

नोटबंदी आजादी की दूसरी लड़ाई

पालमपुर— लोकसभा सांसद शांता कुमार ने कहा है कि नोटबंदी देश में महान विभूतियों के सपनों को साकार करने का पहला बड़ा प्रयास है। यह प्रयास भ्रष्टाचार के विरुद्ध आजादी की दूसरी लड़ाई है।  जारी प्रेस वक्तव्य में उन्होंने कहा कि स्वामी विवेकानंद, महात्मा गांधी और दीनदयाल उपाध्याय ने गांव और गरीब को सबसे अधिक प्राथमिकता देने की बात कहकर समाज के अति गरीब व्यक्ति की सेवा का उपदेश दिया था। देश के महान संन्यासी स्वामी विवेकानंद ने मोक्ष के लिए घर-परिवार और संसार सब कुछ छोड़ दिया था, लेकिन भारत की गरीबी देख मातृभूमि की सेवा के लिए उन्होंने मोक्ष को भी छोड़ दिया।

January 12th, 2017

 
 

पोल

क्या भाजपा व कांग्रेस के युवा नेताओं को प्रदेश का नेतृत्व करना चाहिए?

View Results

Loading ... Loading ...
 
Lingual Support by India Fascinates