आठ साल में सौर परियोजनाएं लगाना दस गुना सस्ता

नई दिल्ली—वैज्ञानिक अनुसंधानों तथा बड़े पैमाने पर सोलर पैनलों की मांग एवं उत्पादन के कारण पिछले आठ साल में सौर परियोजनाएं लगाना दस गुना सस्ता हो गया है। सौर परियोजना लगाने वाली कंपनी सनसोर्स एनर्जी के सह संस्थापक आदर्श दास ने यूनीवार्ता के साथ एक विशेष साक्षात्कार में बताया कि वर्ष 2008 में 10 मेगावाट तक की सौर परियोजना का खर्च 10 डॉलर प्रति वाट से घटकर एक से सवा डालर प्रति वाट रह गई है। इससे सौर प्लांटों से उत्पन्न होने वाली बिजली भी अब काफी किफायती हो गई है। कंपनियों में इस्तेमाल होने वाले डीजल सेट की बजाय छत पर लगाए जाने वाले सौर पैनल कहीं सस्ते और बेहतर विकल्प हैं। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार सौर ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिए जिस जोर-शोर से प्रयास कर रही है उससे इस क्षेत्र में काफी अवसर मौजूद हैं। फिलहाल स्थिति यह है कि मौके ज्यादा हैं और प्रतिस्पर्द्धी कम। उन्होंने स्वीकार किया कि सरकार को ज्यादा जोर अब बड़ी सौर परियोजनाओं पर है, जिन्हें मुख्य ग्रिड से जोड़ा जा सके। राष्ट्रीय सौर मिशन के तहत सरकार ने 40 प्रतिशत उत्पादन लक्ष्य छोटी तथा मध्यम सौर परियोजनाओं के माध्यम से पूरा करने की बात कही।

You might also like