और यह भी..

( शगुन हंस, योल, कांगड़ा )

आपदा में सरकार हमें कितना सुरक्षित रख सकती है, यह हमें इस बर्फबारी ने बता दिया। केंद्र हिमाचल के मुश्किल समय में कितना साथ देगा, यह मुआयना करने आई उस टीम से पता चलता है, जो बिना पूरा हिमाचल घूमे भाग खड़ी हुई। एसी कमरों में बैठकर फैसले करने वाले हिमाचली आपदा की एक झलक देखकर भाग खड़े हुए और जो हर साल इसे झेलता है, उस हिमाचल का क्या!

 

You might also like