प्रदेश में लागू किया जाए मेडिपर्सन एक्ट

मेडिकल आफिसर्ज एसोसिएशन ने डाक्टरों की सुरक्षा के लिए उठाई आवाज

newsबिलासपुर —  प्रदेश भर के सरकारी संस्थानों में कार्यरत चिकित्सकों और अन्य मेडिकल स्टाफ सदस्यों की सुरक्षा के लिए मेडिपर्सन एक्ट लागू किया जाए। यह मांग हिमाचल मेडिकल आफिसर्ज एसोसिएशन ने की है। एसोसिएशन ने इस एक्ट को गैर जमानती अपराध की श्रेणी में रखे जाने की भी वकालत की है। बिलासपुर में मेडिकल आफिसर्ज एसोसिएशन की राज्य स्तरीय बैठक के दौरान एसोसिएशन के महासचिव डा. डा. पुष्पेंद्र वर्मा ने कहा कि प्रदेश भर में चिकित्सकों पर हो रहे हमलों, उन्हें मिलने वाली धमकियों और अभद्र व्यवहार के चलते अब प्रदेश में  मेडिपर्सन एक्ट लागू करना बेहद जरूरी हो गया है। उन्होंने बिलासपुर सदर विधायक द्वारा यहां अस्पताल में कार्यरत अस्थि रोग विशेषज्ञ डा. जसबीर सिंह के स्थानांतरण की कथित धमकी देने के मामले में कहा कि इस बारे संघ का प्रतिनिधिमंडल मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह से मुलाकात कर उन्हें स्थिति से अवगत करवाने के साथ ही इस मामले की निष्पक्ष न्यायिक जांच की मांग भी करेगा। संघ ने सरकार से यह भी मांग है कि किसी भी नीति को बनाते समय संघ के पदाधिकारियों को इसमें शामिल किया जाए। संघ के पदाधिकारियों ने कहा कि हिमाचल में हर साल करीब 200 युवा डाक्टर बनकर निकलते हैं, लेकिन यहां सुविधाओं, रिक्त पद तथा इस तरह की असामाजिक घटनाओं के कारण मजबूरन बाहरी राज्यों की ओर रुख कर रहे हैं। इस मौके पर पैट्रन डा. बलदेव ठाकुर, मुख्य सलाहकार डा. संत लाल शर्मा, सह सलाहकार डा. ओम प्रकाश शर्मा, उपाध्यक्ष डा. अनुपम वधान, डा. ललित कला, डा. विनय गुप्ता, डा. विशाल जंवाल, डा. सतीश शर्मा, डा. विजय रॉय, डा. शाहिद मोहम्मद व डा. जसवीर आदि मौजूद थे।

You might also like