Divya Himachal Logo Jun 28th, 2017

बद्दी में भाजपा का चुनावी मंथन

प्रदेश कार्यसमिति में वीरभद्र सिंह को सत्ता से बाहर करने पर बन रही रणनीति

newsबीबीएन – हिमाचल भाजपा चुनावी वर्ष में वीरभद्र सरकार को सत्ता से बाहर करने के लिए आक्रामक रुख अख्तियार करेगी। मंगलवार शाम बद्दी में शुरू हुई भाजपा की तीन दिवसीय कार्यसमिति की बैठक में संगठन को सशक्त करने और मिशन 50 प्लस को अमलीजामा पहनाने पर गंभीरता से मंथन हुआ। तीन दिवसीय बैठक का शुभारंभ भाजपा के प्रदेश प्रभारी एवं राष्ट्रीय सचिव श्रीकांत शर्मा, नेता प्रतिपक्ष प्रेम कुमार धूमल और प्रदेशाध्यक्ष सतपाल सत्ती ने दीप जलाकर किया। इसके साथ ही भाजपा का शीर्ष नेतृत्व पदाधिकारियों के साथ बैठक में हिमाचल फतह करने के लिए मंत्रणा में जुट गया। इस दौरान जहां तीन महीने में पार्टी द्वारा किए गए विभिन्न संगठनात्मक कार्यों, रैलियों व बैठकों की समीक्षा की गई, वहीं संगठन को चुस्त-दुरुस्त करने और कांग्रेस सरकार को घेरने के लिए जिला, मंडल व बूथ स्तर पर बैठकों के आयोजन की रणनीति तैयार की गई, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मंडी रैली, त्रिदेव सम्मेलन व अन्य संगठनात्मक गतिविधियों की समीक्षा प्रमुख तौर पर शामिल रही। इसके साथ-साथ अगामी दिनों में होने वाले त्रिदेव सम्मेलन सहित अन्य दिग्गज नेताओं की रैलियों को लेकर भी रणनीति बनाई गई और संबंधित क्ष्ेत्र के नेताओें को जिम्मेदारियां सौंपी गईं। बैठक में तय किया कि चुनावी साल में प्रदेश की वीरभद्र सरकार के जनविरोधी कार्यों का गांव से लेकर शहर तक व्यापक प्रचार किया जाएगा। प्रदेश कार्यसमिति की बुधवार को होने वाली बैठक में प्रदेशभर से 331 पदाधिकारी पहुंचेंगे।

ये नेता रहे मौजूद

संगठन मंत्री पवन राणा, सांसद अनुराग ठाकुर, रामस्वरूप शर्मा, विधायक सरवीण चौधरी, रणधीर शर्मा, डा. राजीव बिंदल, विक्रम ठाकुर, गोविंद ठाकुर, विपिन परमार, प्रवीण शर्मा, राजीव भारद्वाज, रूपा शर्मा, कृपाल परमार, चंद्रमोहन ठाकुर, राम सिंह, त्रिलोक जम्वाल, कमलेश कुमारी, डेजी ठाकुर, विनोद ठाकुर, पायल वैद्य, रतन सिंह, अजय राणा, रितु सेठी, महेंद्र धर्माणी, शशि दत्त शर्मा, हिमांशु मिश्रा, नरेंद्र अत्री, राकेश शर्मा, कपिल सूद, शिशु, संजय, पुरुषोत्तम गुलेरिया, बलदेव भंडारी, विशाल चौहान, सूरत नेगी, उत्तम चौधरी व मोहम्मद राज बली। बैठक में सांसद शांता कुमार व केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा नहीं आ सके।

January 11th, 2017

 
 

पोल

क्रिकेट विवाद के लिए कौन जिम्मेदार है?

View Results

Loading ... Loading ...
 
Lingual Support by India Fascinates