Divya Himachal Logo Feb 24th, 2017

शिमला में गैस से पांच की मौत

अंगीठी जलाकर एक साथ सोए थे बिहार से आए मजदूर, कमरे में पाए गए मृत

newsशिमला— राजधानी में खराब मौसम ने पांच प्रवासी मजदूरों की जान ले ली है। बर्फबारी के बाद चल रही ठंडी हवाओं के चलते समरहिल के चायली क्षेत्र शौदोग गांव में अंगीठी जलाकर सोए पांच प्रवासी मजदूर गैस लगने के कारण कमरे में मृत पाए गए। ये सभी मजदूर कारपेंटर का काम करते थे। ये सभी किराए के मकान में रहते थे। मंगलवार को जब मकान मालिक चार-पांच दिन बाद घर लौटा तो उसने कमरे में पांचों मजदूरों को मृत पड़ा हुआ पाया। इन सभी के मुंह से सफेद झाग निकला हुआ था। गांव वालों ने इन पांचों को ही आखिरी बार सोमवार दोपहर अढ़ाई बजे देखा था। इससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि इन पांचों की मौत सोमवार रात अंगीठी की गैस से हुई होगी। पुलिस ने मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। सभी मजदूर बिहार के किशनगंज जिला के बताए जा रहे हैं। पुलिस शवों को पोस्टमार्टम के लिए आईजीएमसी ले गई है। पुलिस ने मजदूरों के साथियों से जानकारी हासिल कर पांचों के घरवालों को खबर कर दी है। पांचों की मौत कब-कैसे हुई इसकी जानकारी पोस्टमार्टम के बाद ही मिलेगी।

January 11th, 2017

 
  • kushal kumar says:

    This Vedic astrology writer had already in October-November 2016 sought to alert HP against fire or gas and the like during first three months of year 2017. This alert for more care and appropriate strategy was made by this writer in article ” 2017 – an opportune year for India with major worrisome concerns in February-March and August-September” issued widely to news media in October and November 2016. It was said that first three months from January to March could be put into one class in the light of similarity of planetary influences while February-March could be specific.

  •  

    पोल

    क्या हिमाचल में बस अड्डों के नाम बदले जाने चाहिएं?

    View Results

    Loading ... Loading ...
     
    Lingual Support by India Fascinates