सावधानी से बढ़ रहा है बाजार

मुंबई— स्थानीय शेयर बाजार में बुधवार को तेजी बनी रही। लिवाली के समर्थन से बंबई शेयर बाजार का मुख्य सूचकांक सेंसेक्स प्रारंभिक कारोबार के दौरान 151 अंक चढ़कर 27000 के ऊपर चल रहा था। नेशनल स्टाक एक्सचेंज का निफ्टी भी 8 300 के उत्साहजनक स्तर पर पहुंच गया था। एशियायी बाजारों में तेजी के समाचारों से उत्साहित निवेशकों ने अपने दांव ऊंचे कर दिए थे, जिससे शेयरों में व्यापक सुधार दिख रहा था। लेकिन प्रतिष्ठित कंपनियों के तिमाही नतीजों की घोषणाओं के इंतजार में बाजार में एक सावधानी भरा वातावरण भी चल रहा है। सेंसेक्स पिछले कल 173.01 अंक बढ़ा था और इसके उपर 151.01 या 0.56 प्रतिशत की बढ़त के साथ 27,050.57 पर चल रहा था। कर दर में कटौती और बुनियादी ढांचे में अधिक व्यय करने की डोनाल्ड ट्रंप की योजना से अमरीकी शेयर बाजार में उछाल आया है और इसका असर यूरोपीय शेयर बाजारों पर भी पड़ा है। एशियाई तथा यूरोपीय शेयर बाजारों में भी मिलाजुला रुख रहा। दक्षिण कोरिया का कोस्पी 1.47 प्रतिशत और हांगकांग का हैंगसैंग 0.84 प्रतिशत की तेजी में बंद हुआ, जबकि जापान का निक्की 0.34 प्रतिशत और चीन का शंघाई कंपोजिट 0.77 प्रतिशत की गिरावट लेकर बंद हुए। यूरोप में ब्रिटेन का एफटीएसई शुरुआती कारोबार में 0.14 प्रतिशत चढ़ गया। बीएसई के 20 समूहों में से मात्र आईटी 0.02 प्रतिशत की मामूली गिरावट में बंद हुआ और शेष सभी समूह हरे निशान में रहे। मुनाफे में रहने वाले समूहों में सबसे अधिक धातु समूह  4.42 प्रतिशत चढ़े। इसके साथ ही बेसिक मैटेरियलस  समूह 2.56  प्रतिशत, बैंक समूह 2.40 प्रतिशत, वित्त 2.00 प्रतिशत की बढ़त में रहे। एनर्जी, एफएमसीजी, सीडीजीएस ,स्वास्थ्य, टेलीकॉम, यूटिलिटिज, बैंक, पीएसयू , इंडस्ट्रीयल्स, ऑटो, तेल एवं गैस, टेक और ऊर्जा समूहों में भी मजबूती रही। सेंसेक्स की 30 में से 23 कंपनियां मुनाफे में रहीं और शेष सात के शेयर लुढ़क गए। कोल इंडिया के शेयरों में सर्वाधिक 5.41 फीसदी का उछाल रहा।

You might also like