Divya Himachal Logo Sep 25th, 2017

पशु हेल्पलाइन

हर तीन महीने बाद दें पेट के कीड़ों की दवाई

मेरी बछड़ी की प्रसूति एक महीना पहले हुई है। उसका बछड़ा मरा हुआ था व उसे खींच कर निकाला था। अभी वह सात-आठ लीटर दूध दे रही है। अब इसकी हम क्या सेवा करें कि अगली बार इसका बच्चा न मरे?

—अंकुर, रामपुर

आपके पशु की प्रसूति पहली बार हुई है और वह आठ लीटर दूध दे रही है, इसका मतलब आपने प्रसूति से पहले उसकी अच्छी सेवा की है। अभी आप उसे

-पेट के कीड़ों की दवाई दें, इसे हर तीन महीने बाद दें।

-उसे 50 ग्राम खनिज मिश्रण ताउम्र दें।

-उसे अढ़ाई किलो पशु आहर सुबह व शाम को दें। (दिन का साढ़े चार-पांच किलोग्राम आहार दें)

आपने अपने पशु की काफी अच्छी सेवा की है, इसीलिए आपका पशु जल्द ही गरमाने के लक्षण देगा, परंतु आपके पशु की प्रसूति पहली बार हुई है, इसीलिए आपने तीन महीने (90 दिन) से पहले इसका कृत्रिम गर्भाधान नहीं करवाया है, परंतु यह भी ध्यान रखें कि इसका चार महीने (120दिन) तक कृत्रिम गर्भाधान अवश्य हो जाए। अगर ऐसा नहीं होता है तो इसकी जांच अपने पशु चिकित्सा अधिकारी से अवश्य करवाएं। जहां तक इसकी अगली प्रसूति की बात है, उसके बारे में अभी कुछ नहीं बोल सकते हैं। परंतु अगर आप अपने पशु की अच्छी सेवा करेंगे तो आपका पशु स्वस्थ होगा व अगली बार इसकी प्रसूति अवश्य ही ठीक होगी।

मेरी सात महीने की गाभिन कट्टी है। इसके शरीर पर द्र्रफड़ (फोड़े) पड़ रहे हैं।

इसकी चमड़ी मोटी व लाल रंग की हो जाती है, क्यों करें?

—सोहन, बलद्वाड़ा

ऐसा प्रतीत होता है कि आपके पशु को चर्म रोग है अभी आप उसे

-इंजेक्शन आइबरमैक्टिन सात एमएल हफ्ते में एक बार तीन-चार हफ्ते लगवाएं।

-इंजेक्शन ऐविल दस एमएल प्रतिदिन पांच-सात दिन लगवाएं या तब तक लगवाएं जब तक उसकी खारिश न खत्म हो जाए।

-गोली टीबर्ब दो सुबह व दो शाम 10-12 दिन खिलाएं।

-फोड़ों को साफ कर उस पर क्रीम स्केवोन/बैटवोनेट-जीएम लगवाएं।

-खरिज मिश्रण 50 ग्राम प्रतिदिन खिलाएं।

यह चर्म रोग है व कई बार इसका इलाज लंबा चलता है। कई बार पूरी तरह से ठीक होने में एक महीना भी लग जाता है। हां, इस बात का ध्यान रखें कि जब इसका इलाज शुरू हो गया है तो यह रोग बढ़ना नहीं चाहिए। अगर आपको लगे कि चार-पांच दिन बाद भी कोई खास फर्क नहीं पड़ा है, तो आप इसका परीक्षण पशु चिकित्सा अधिकारी से करवाएं।

डा. मुकुल कठह्यिंर् िवरिष्ठ पशु चिकित्सा अधिकारी, उपमंडलीय पशु चिकित्सालय पद्धर(मंडी)

फोनः 94181-61948

नोट : हेल्पलाइन में दिए गए उत्तर मात्र सलाह हैं।

Email: mukul_kaistha@yahoo.co.in

भारत मैट्रीमोनी पर अपना सही संगी चुनें – निःशुल्क रजिस्टर करें !

July 13th, 2017

 
 

पोल

क्या वीरभद्र सिंह के भ्रष्टाचार से जुड़े मामले हिमाचल विधानसभा चुनावों में बड़ा मुद्दा हैं?

View Results

Loading ... Loading ...
 
Lingual Support by India Fascinates