himachal pradesh news, himachal pradesh top stories, himachal pradesh tourism

पशु हेल्पलाइन

ज्यादा दूध देने वाले पशु को ही दें तरल कैल्शियम

मेरी गाय सात लीटर दूध दे रही है। मैं उसे तरल कैल्शियम (पांच लीटर कैनी) भी दे रहा हूं, परंतु वह प्रतिदिन कमजोर होती जा रही है।

क्या करें?

—केवल कृष्ण, कांगड़ा

मैं पहले भी पशु हेल्पलाइन में लिख चुका हूं कि तरल कैल्शियम की जरूरत केवल अत्यधिक दूध देने वाले पशुओं को होती है। दिन का 12-13 लीटर दूध देने वाले पशु की जरूरत उसके पशु आहार, हरे चारे व खनिज मिश्रण से ही पूरी हो जाती है। इसलिए अगर आपका पशु इससे ज्यादा दूध देता है तो आप उसे तरल कैल्शियम दें अन्यथा इसकी पशु को जरूरत नहीं होती है व पशुओं के लिए यह हानिकारक साबित हो सकता है।

तरल कैल्शियम से पशु को कोई शक्ति या ऊर्जा नहीं मिलती है। यह केवल अत्यधिक दूध में निकले अत्यधिक कैल्शियम तत्त्व की आपूर्ति करता है। इससे पशु के ज्यादा दूध देने की क्षमता बरकरार  रहती है।

अगर आपका पशु कम दूध देता है और आप उसे तरल कैल्शियम देते हैं तो आपका पशु पूर्णतयः इस बाह्य कैल्शियम पर निर्भर हो जाता है व उसके शरीर में कैल्शियम बनने की प्रक्रिया खत्म हो जाती है। खासकर जो लोग गाभिन पशु को सुखाने के बाद (प्रसूति से 45-60 दिन पहले) इस तरल कैल्शियम को पशु की शक्ति बढ़ाने के लिए देते हैं, उन पशुओं के लिए यह काफी हानिकारक सिद्ध हो सकता है व यही प्रसूति से पहले व बाद में पशु के बैठ जाने का मुख्य कारण होता है।

इसलिए तरल कैल्शियम केवल उस पशु को दीजिए जो दिन का 12-13 लीटर से ज्यादा दूध देता है। आजकल देखा गया है कि पंजाब-हरियाणा से कई लोग, नीम हकीम गांवों में घूमकर तरल कैल्शियम की पांच लीटर की कैनी को आधे दामों पर लोगों को बेच रहे हैं। आप इनसे सावधान रहें। इस कैल्शियम की कोई गुणवत्ता नहीं होती है। इससे पशु को कोई फायदा नहीं होता है अपितु नुकसान अवश्य हो सकता है। पशु को कौन सा तरल कैल्शियम देना है यह आप अपने निकटतम पशु चिकित्सक की सलाह से ही दें। अगर आप दवाई की दुकान से इसे खरीदते हैं तो भी खरीदने के बाद एक बार अपने पशु चिकित्सा अधिकारी से इसकी जांच अवश्य करवा लें।

जहां तक आपके पशु की बात है, वह दिन का सात-आठ लीटर दूध दे रहा है, आप उसे-

– पेट के कीड़ों की दवाई दें।

-पशु आहार दो किलो सुबह व दो किलो शाम को दें।

-खनिज मिश्रण 50 ग्राम ताउग्र दें।

आपके पशु के कैल्शियम की जरूरत उपरोक्त खाने से ही पूर्ण हो जाएगी, इसलिए उसे तरल कैल्शियम की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। हां उपरोक्त खाने के साथ उसे दिन का 15 किलो हरा घास व तीन-चार किलो सूखा घास (तूड़ी) भी अवश्य दें। अगर आपके पास हरा घास ज्यादा है तो हर दस किलो हरे घास पर आप एक किलो पशु आहार उसे कम दें। आगे से ध्यान रखें-

-तरल कैल्शियम केवल उसी पशु को दें जो 12/13 लीटर से ज्यादा दूध दे।

-तरल कैल्शियम केवल दुधारू पशु को दे-बछड़ी, बैल व गाभिन गाय जिसका दूध सुखा दिया हो, उसे यह न दें।

-खजिन मिश्रण सभी पशुओं को 50 ग्राम प्रतिदिन ताउम्र दें।

डा. मुकुल कायस्थ वरिष्ठ पशु चिकित्सा अधिकारी, उपमंडलीय पशु चिकित्सालय पद्धर(मंडी)

फोनः 94181-61948

नोट : हेल्पलाइन में दिए गए उत्तर मात्र सलाह हैं।

Email: mukul_kaistha@yahoo.co.in

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !

You might also like
?>