Divya Himachal Logo Aug 20th, 2017

रूसी टैंकों ने कराई भारत की फजीहत

चीन से मुकाबले से पहले ही बाहर, तकनीकी खराबी के चलते पूरी नहीं कर पाए रेस

NEWSनई दिल्ली— अंतरराष्ट्रीय सैन्य खेल 2017 में भारतीय टैंक की खस्ताहालत सामने आ गई है। इस प्रतिस्पर्धा के दौरान भारत के दो टैंक तकनीकी खराबी की वजह से अपनी रेस को पूरी नहीं कर पाए। खबर के अनुसार भारत के टी-90 टैंक इस प्रतिस्पर्धा में शामिल हुए थे। इनमें से एक टैंक को रिजर्व में रखा गया था, लेकिन जिस तरह से दोनों टैंक रेस के दौरान खराब हो गए उसके चलते भारतीय टीम को रेस से बाहर होना पड़ा और इस प्रतिस्पर्धा में भारत को अयोग्य घोषित करके बाहर कर दिया गया। यहां गौर करने वाली बात यह है कि इस प्रतियोगिता में भारतीय टैंक बेहतर प्रदर्शन कर रहे थे और उसे जीत का प्रबल दावेदार माना जा रहा था, लेकिन जिस तरह से बीच प्रतियोगिता में यह टैंक खराब हुए उसके बाद भारतीय खेमे को मायूसी का सामना करना पड़ा और भारतीय टैंकों को प्रतियोगिता से बाहर कर दिया गया। भारतीय खेमे के बाहर होने के बाद अब रूस, बेलारूस, कजाकिस्तान और चीन के फाइनल मुकाबले में पहुंच गए हैं। इस रेस में रूस और कजाकिस्तान के टी-72 बी थ्री टैंक, बेलारूस का टी-72 और चीन का 96बी टैंक शामिल है। भारत के जो टैंक इस रेस से बाहर हुए हैं उन्हें रूस ने डिजाइन किया था। पहले इस बात के कयास लगाए जा रहे थे कि इस रेस में भारत स्वनिर्मित टैंक अर्जुन के साथ मैदान में उतरेगा, लेकिन आखिर में भारत ने रूस द्वारा बनाए गए टी-72 टैंक से साथ उतरने का फैसला लिया, लेकिन आखिरी समय पर भारत की टीम इस टैंक से संतुष्ट नहीं थी। लिहाजा आखिरी वक्त पर टी-90 टैंकों को मंगाया गया था।

टीम में कई लोग

बता दें कि इस अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता में 19 टीमों ने हिस्सा लिया था, जिसमें कुल चार टीमें फाइनल के लिए पहुंची हैं। हर एक टीम के भीतर कुल 21 सदस्य हैं। टीम में अहम सदस्यों के अलावा एक कोच, और तकनीकी टीम के भी लोग हैं जो टैंक में आई दिक्कतों को सही करने का काम करते हैं। इस प्रतियोगिता में कुल तीन राउंड हैं।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !

August 13th, 2017

 
  • kushal kumar says:

    News report has appeared on 13 August 2017 to convey that our T-tank90 could not do well in preparation to International Competition 2017. It has also been said in the news report that design of these tanks was taken from Russia. This condition of our T-tank90 , on the face of it , looks to be a cause of concern while we may have to hear more from our defense experts and scientists on the war worthiness of these tanks. Readers may , however , like to read this Vedic astrology writer’s one of alerts for more care and appropriate strategy for India in August-September 2017 : – “ Some issues could come to surface in relation to defense deals and cause uneasiness”. This was a part of the alerts in article “ 2017 – an opportune year for India with major worrisome concerns in February-March and August-September” issued widely to Indian news media last year in October and November 2016.

  •  

    पोल

    क्या कांग्रेस को विस चुनाव वीरभद्र सिंह के नेतृत्व में लड़ना चाहिए?

    View Results

    Loading ... Loading ...
     
    Lingual Support by India Fascinates