Divya Himachal Logo Sep 22nd, 2017

कांग्रेस को ले डूबा अहंकार

अमरीकी यूनिवर्सिटी में संबोधन के दौरान कांग्रेस उपाध्यक्ष ने स्वीकारा

NEWSकैलिफोर्निया— अमरीका दौरे पर गए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने बर्क्ली यूनिवर्सिटी में आयोजित एक कार्यक्रम में विभिन्न मुद्दों पर बातचीत की और सवालों के जवाब देते हुए पार्टी के पतन की वजह भी बताई। 2014 आम चुनाव में कांग्रेस की शर्मनाक हार के कारण के बारे में जब राहुल से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि पार्टी अहंकारी हो गई थी। उन्होंने कहा कि 2012 के आसपास कांग्रेस पार्टी को घमंड हो गया और हमने लोगों से बातचीत करनी बंद कर दी, जिसका खमियाजा हमें भुगतना पड़ा। राहुल ने कश्मीर हिंसा का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि कश्मीर में आतंकियों के बढ़ते हमलों के लिए केंद्र की मोदी सरकार जिम्मेदार है। छात्रों को संबोधित करते हुए राहुल ने कहा कि कश्मीर की राजनीति में युवाओं को लाने के मामले में पीडीपी आगे रही है, लेकिन जिस दिन से पीएम नरेंद्र मोदी ने पीडीपी से गठबंधन किया, उन्होंने पार्टी (पीडीपी) को तबाह कर दिया। उन्होंने (पीएम मोदी ने) घाटी में आतंकियों के लिए जगह फिर से पैदा कर दी। अब आप देख सकते हैं कि कश्मीर का क्या हाल है और वहां कैसे हिंसा बढ़ गई है। राहुल गांधी ने भाजपा के सोशल मीडिया विंग पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि भाजपा की एक मशीनरी है, जहां 1000 लोग कम्प्यूटर्स पर बैठे हैं और आपको मेरे बारे में बताएंगे। गजब की मशीनरी है। वह मेरे बारे में अपमानजनक बातें फैलाते हैं। यह आपरेशन वे महानुभाव चलाते हैं, जो देश चला रहे हैं। सिखों के साथ हिंसा को लेकर पूछे गए एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि उनकी दादी सिखों से बेहद प्यार करती थीं और एक वक्त उनके घर में काफी सिख थे। राहुल ने कहा कि उन्होंने हिंसा की वजह से ही अपनी दादी और बाद में पिता को खोया है। ऐसे में अगर वह हिंसा के प्रभाव को नहीं समझेंगे तो कोई और क्या समझेगा? उन्होंने कहा कि वह लोगों को न्याय दिलाने और हिंसा के विरोध के लिए हमेशा खड़े हैं। राहुल ने नोटबंदी के फैसले की जमकर निंदा की। उन्होंने कहा कि नोटबंदी लागू करने के लिए प्रमुख आर्थिक सलाहकार या संसद तक की राय लेनी जरूरी नहीं समझी गई। नोटबंदी की वजह से जीडीपी में दो प्रतिशत की गिरावट आई। भारत में न तो नई नौकरियां पैदा हो रही हैं और न ही आर्थिक विकास रफ्तार पकड़ पा रहा है। वहीं, अर्थव्यवस्था को लेकर किए गए कुछ गलत फैसलों की वजह से किसानों की आत्महत्या की रफ्तार में बेतहाशा इजाफा हुआ है। उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि भारत में वंशवाद की राजनीति ही सभी पार्टियों की समस्या है। देश में ज्यादातर ऐसा ही चल रहा है। चाहे आप अखिलेश यादव (मुलायम के बेटे) को देखें या फिर अभिषेक बच्चन या फिर एमके स्टालिन (करुणानिधि के बेटे), अनुराग ठाकुर (पूर्व सीएम प्रेम कुमार धूमल के बेटे) या मुकेश-अनिल अंबानी (धीरूभाई के बेटे)। ये सभी अपने पिता की विरासत ही आगे बढ़ाते दिखते हैं। यह सब बताता है कि देश कैसे चल रहा है। यह पूछे जाने पर कि क्या वह 2019 के आम चुनाव से पहले पार्टी प्रमुख की भूमिका निभाने के लिए तैयार हैं, राहुल ने कहा कि वह इसके लिए पूरी तरह तैयार हैं, लेकिन यह पार्टी के सांगठनिक चुनाव के जरिए ही होगा। कांग्रेस उपाध्यक्ष सोमवार से अमरीका की दो सप्ताह की यात्रा पर हैं। इस दौरान वह वैश्विक विचारकों और बुद्धिजीवियों के साथ बातचीत करेंगे।

ध्रुवीकरण की राजनीति देश के लिए घातक

भाजपा पर निशाना साधते हुए राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि घृणा और ध्रुवीकरण की राजनीति से लाखों लोग यह महसूस करने लगे हैं कि अपने ही देश में अब उनका कोई भविष्य नहीं है। ध्रुवीकरण की कुरूप राजनीति ने भारत में अपना सिर उठा लिया है। उदारवादी पत्रकारों की जान ली जा रही है।  दलितों की पीट-पीटकर हत्या की जा रही है और गोमांस खाने के शक में मुसलमानों को मारा जा रहा है। यह भारत में नई चीज है और इससे देश को बहुत नुकसान हो रहा है। श्री गांधी ने आरोप लगाया कि भाजपा नीत केंद्र सरकार ने कश्मीर घाटी में अमन-चैन का माहौल खराब कर दिया है, जबकि पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार ने वहां शांति बहाली के लिए काफी प्रयास किया था।

स्मृति बोलीं वंशवाद पर राहुल के बोल देश का अपमान

NEWSस्मृति ईरानी ने कहा कि वंशवाद पर राहुल गांधी ने जो कुछ कहा है वह देश के लोगों का अपमान है। प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति संघर्ष के बाद ऊंचे पदों पर पहुंचे हैं। इन तीन व्यक्तियों का शीर्ष पर होना बताता है कि लोकतंत्र में विरासत से नहीं, मैरिट से काम चलता है। स्मृति ईरानी ने कहा कि कांग्रेस में अहंकार को पार्टी की हार से जोड़ना कांग्रेस के लिए चिंतन का विषय है। राहुल का यह कबूलनामा कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर तंज है। राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए भाजपा नेता ने कहा कि एक विफल वंशवादी ने अपनी विफल राजनीतिक यात्रा के बारे में अमरीका में चर्चा की। देश उन्हें सुन नहीं रहा है, इसलिए वह विदेश में जाकर बोल रहे हैं।

कांग्रेस का पलटवार, राहुल गांधी ने बढ़ाया सम्मान

NEWSभाजपा के पलटवार के बाद कांग्रेस राहुल के बचाव में मैदान में उतरी। कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने राहुल गांधी के बयान पर सफाई देते हुए कहा कि उन्होंने एक राजनेता की तरह बयान दिया। राहुल ने अपनी नाकामियों को भी स्वीकार किया और साथ ही सत्तारूढ़ पार्टी की कमजोरियों को भी गिनाया। राहुल गांधी ने विदेशी धरती पर देश का सम्मान बढ़ाया है। अगर विदेश की धरती पर किसी ने देश का अपमान किया है तो वह नरेंद्र मोदी हैं और पीएम बनने के बाद उन्होंने ऐसा बार-बार किया है। उन्होंने कहा कि वंशवाद भारत ही नहीं बल्कि विदेशों में भी मौजूद है और इसको लेकर किसी को भी कोई शक नहीं होना चाहिए।

September 13th, 2017

 
  • kushal kumar says:

    It seems among several reasons which could be identified by political analysts for present pathetic condition of Congress , two broad reasons look to be like this. One, too much appeasement of certain sections of society to the too much annoyance of others. And when the own people of those appeased came up or sprang up, Congress was made minus. Two , Congress in quest of lionizing the party , created an army of those who were mostly dependent on Congress instead of they contributing to the political fortunes of Congress.

  •  

    पोल

    क्या जीएस बाली हिमाचल में वीरभद्र सिंह का विकल्प हो सकते हैं?

    View Results

    Loading ... Loading ...
     
    Lingual Support by India Fascinates