Divya Himachal Logo Sep 25th, 2017

चुनाव के लिए मैं और मेरी फौज तैयार

मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह बोले, इस बार दूंगा सरप्राइज

NEWSशिमला— मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने कहा है कि भाजपा जितना चाहे जोर लगा ले, प्रदेश में फिर से सरकार कांग्रेस की ही बनेगी। उन्होंने कहा कि इस बार वह सरप्राइज देंगे। विधानसभा चुनावों के लिए वह और उनकी फौज तैयार है। पीटरहाफ में नाहन व चंबा मेडिकल कालेज के साथ-साथ अन्य जिला अस्पतालों में बड़ी स्वास्थ्य योजनाओं के शिलान्यास के बाद मुख्यमंत्री मीडिया से अनौपचारिक बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रदेश के लोगों का स्नेह व प्रेम उनके साथ है। इसी के बूते वह अंत तक लड़ना जानते हैं। उन्होंने प्रदेश के हर हिस्से का दौरा किया है, जो विश्वास लोगों में कांग्रेस के प्रति है, उसकी बिनाह पर वह कह सकते हैं कि सत्ता में फिर कांग्रेस ही लौटेगी। एक सवाल पर उन्होंने कहा कि उनका चुनाव लड़ना या न लड़ना मिलियन डालर का सवाल है। वह लड़ भी सकते हैं और नहीं भी, मगर पार्टी को फिर से सत्ता में जरूर लाएंगे। मुख्यमंत्री ने संगठन मामलों पर पूछे गए सवालों पर कहा कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुखविंदर सुक्खू से उनकी कोई भी व्यक्तिगत रंजिश नहीं है। मुद्दा नीति व सिद्धांत का है।

भाजपा राष्ट्रीय प्रवक्ता लाए या कोई और

मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा चाहे राष्ट्रीय प्रवक्ता लाए या किसी और को। जो आरोप उन पर अब लगाए जा रहे हैं, पिछले विधानसभा चुनावों में भी यही आरोप लगे थे। एक ही आरोप की जांच सीबीआई, ईडी और इन्कम टैक्स कर रहा है। लोग सच जानते हैं। उन्हें कानून पर विश्वास है, दूध का दूध व पानी का पानी होगा।

शिंदे फाइनल अथारिटी नहीं कि जो कहेंगे वही होगा

मुख्यमंत्री ने एक सवाल पर कहा कि प्रदेश पार्टी मामलों के प्रभारी सुशील कुमार शिंदे कोई फाइनल अथारिटी नहीं है कि जो कह दिया वही होगा। दरअसल मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह से पूछा गया था कि शिंदे ने कहा है कि संगठन में न तो फेरबदल होगा और चुनाव मुख्यमंत्री के नेतृत्व में ही लड़े जाएंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश के विभिन्न हिस्सों के दौरों के कारण वह अति व्यस्त रहे हैं। इसी वजह से पार्टी हाइकमान से फिर मिलने नहीं जा सके थे। अब जल्द ही दिल्ली जाएंगे व केंद्रीय नेताओं व राष्ट्रीय अध्यक्ष से बातचीत करेंगे।

दिल्ली से कोई आए या न आए

मुख्यमंत्री ने एक अन्य सवाल पर कहा कि चुनाव प्रचार के लिए भाजपा की तर्ज पर कांग्रेस के राष्ट्रीय नेता हिमाचल आएं या न आएं, वह अपना काम करते रहेंगे। पार्टी को सत्ता में लाना उनकी जिम्मेदारी है।

मिलकर लड़ेंगे, भविष्य दांव पर

मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी कांग्रेसजन मिलकर चुनाव लड़ेंगे, क्योंकि सभी का भविष्य दांव पर है। उन्होंने कहा कि वह खुद भी तैयार हैं व उनकी फौज भी तैयार है।

 

September 14th, 2017

 
 

पोल

क्या वीरभद्र सिंह के भ्रष्टाचार से जुड़े मामले हिमाचल विधानसभा चुनावों में बड़ा मुद्दा हैं?

View Results

Loading ... Loading ...
 
Lingual Support by India Fascinates