himachal pradesh news, himachal pradesh top stories, himachal pradesh tourism

तीन महीने में 4517 किसान क्रेडिट कार्ड जारी

बिलासपुर —  जिला एवं प्रदेश के अग्रणी यूको बैंक द्वारा लेकव्यू कैफे बिलासपुर में बुधवार को वर्ष 2017-18 की वार्षिक ऋण योजना के अंतर्गत जून, 2017 को समाप्त अवधि के परिणामों तथा उपलब्धियों की समीक्षा के लिए जिला सलाहकार समन्वय समिति एवं जिला स्तरीय समीक्षा समिति की बैठक का आयोजन किया गया। इसकी अध्यक्षता अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी विनय कुमार ने की। बैठक में जिला में कार्यरत सभी 121 बैंकों द्वारा क्रियान्वित की जा रही सरकार की गरीबी उन्मूलन योजनाओं की समीक्षा की गई। इस अवसर पर अपने अध्यक्षीय भाषण में अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी ने बताया कि जिला के ऋण वितरण में बैंकों का वार्षिक ऋण योजना 2017-18 के अंतर्गत वार्षिक लक्ष्य 935.85 करोड़ रुपए का है, जिसे 30 जून तक बैंकों ने 173.52 करोड़ रुपए के ऋण वितरण करके 18.54 प्रतिशत की दर से अपने लक्ष्यों की प्राप्ति की है। उन्होंने कहा कि जिला में जून के अंत तक समाप्त तिमाही में प्राथमिकता प्राप्त क्षेत्र में बैंकों ने 16.50 प्रतिशत की दर से तथा गैर प्राथमिकता प्राप्त क्षेत्र में 42.30 प्रतिशत की दर से लक्ष्यों की प्राप्ति की है। उन्होंने बैंकों से आशा जताई कि वे जिला के आर्थिक विकास में अपने दायित्वों को समझते हुए ज्यादा से ज्यादा ऋण प्राथमिकता प्राप्त क्षेत्र को देंगे व लोगों के आर्थिक स्तर को ऊंचा उठाने में सहयोग करेंगे।  उन्होंने जिला में 30 जून को समाप्त तिमाही में कृषि क्षेत्र में 74.87 करोड़ रुपए, सूक्ष्म मध्यम व लघु उद्यमों में 48.74 करोड़ तथा सेवा क्षेत्र में 18.58 करोड़ के ऋण वितरित किए हैं। उन्होंने बताया कि जिला के विभिन्न बैंकों ने किसान क्रेडिट कार्ड योजना के अंतर्गत लगातार वृद्वि दर्ज की है तथा 2017-18 वित्तीय वर्ष की प्रथम तिमाही में कुल 4517 किसान क्रेडिट कार्ड जारी किए हैं। उन्होंने आगे बताया कि जिला में कार्यरत सभी बैंक शाखाओं को इस आश्य के निर्देश भेजे जा चुके हैं कि वे शेष किसानों को भी किसान क्रेडिट कार्ड जारी करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि जिला के बैंकों का गत वर्ष के समापन को कुल व्यवसाय 5295.07 करोड़ का था जो कि इस वर्ष की प्रथम तिमाही 30 जून तक बढ़कर 6034.70 करोड़ का हो गया है। इस अवसर पर संजय जैन अंचल उपप्रबंधक यूको बैंक, रमेश चंद सहायक महाप्रबंधक भारतीय रिजर्व बेंक शिमला, केके जसवाल अग्रणी जिला प्रबंधक बिलासपुर, सतपाल चैधरी डीडीएम नाबार्ड,  सभी विभागाध्य एवं प्रतिनिधि सरकारी अधिकारी कारपोरेशन व विकास एजेंसियों तथा विभिन्न बैंक अधिकारी उपस्थित थे।

You might also like
?>