ब्लू व्हेल गेम खेल रहे कांग्रेस नेता!

newsपालमपुर – जन्मदिन के मौके पर भाजपा के दिग्गज नेता और सांसद शांता कुमार कार्यकर्ताओं व चाह्वानों की बधाइयां लेने के बीच पूरी लय में नजर आए। सुबह से ही शांता कुमार के निवास पर उनको मुबारकबाद देने वालों का आना-जाना शुरू हो गया था, इसी बीच उन्होंने वहां पहुंचे चुनिंदा पत्रकारों से बात करने के लिए कुछ पल निकाल ही लिए। 64 साल के लंबे राजनीतिक अनुभव के साथ 84वें बसंत में प्रवेश कर रहे शांता कुमार ने प्रदेश कांग्रेस में चल रही उठक-पटक पर सीधे कटाक्ष करते हुए कहा कि कांग्रेस के नेता ब्लू व्हेल गेम खेल रहे हैं। सोशल मीडिया पर चल रही विवादित ब्लू व्हेल गेम लोगों को आत्महत्या के लिए उकसा रही है और कांग्रेस की मौजूदा परिस्थितियों का आकलन शांता कुमार इसी तर्ज पर कर रहे हैं। बकौल शांता कुमार कांग्रेस के नेता जिस तरह की बयानबाजी कर रहे हैं और सोशल मीडिया पर जो कुछ कहा-लिखा जा रहा है, उससे ऐसा प्रतीत होता है कि यह लोग खुद ही पार्टी को बर्बाद करने पर तुले हैं। प्रदेश में अब भाजपा का सत्ता में आना तय है और इस बार रिकार्ड जीत के साथ प्रदेश में भाजपा की सरकार बनेगी। शांता कुमार ने कहा कि मौजूदा दौर फर्जी शब्द के इर्द-गिर्द घूम रहा है। फर्जी बाबे, फर्जी टॉपर सामने आ रहे हैं, ऐसे में अब फर्जी नेताओं की सूची भी सामने आनी चाहिए। कुर्सी पर रहते हुए जिन नेताओं ने जनता को लूटा और भ्रष्टाचार किया, उनका नाम सबके सामने आना चाहिए। टिकट के तलबगारों की लंबी हो ती सूची पर शांता कुमार ने कार्यकर्ताओं ने मर्यादा में रहने की नसीहत दी है। शांता कुमार ने दो टूक कहा कि जो कार्यकर्ता खुद से ही उम्मीदवार बन बैठे हैं, उनका नाम तो त्वरित रूप से सूची से काट दिया जाना चाहिए। कांग्रेस नेता जीएस बाली के भाजपा में शामिल होने की अटकलों पर शांता कुमार ने कहा कि पार्टी आलाकमान हर निर्णय गुण-दोश के आधार पर लेगी।

यामिनी में काटा केक

यामिनी परिसर में सुबह नौ बजे से बधाइयों का तांता लगा रहा। इस अवसर पर शांता जी के लिए केक का भी प्रबंध किया गया था। भाजपा नेता शांता कुमार ने 84वें जन्म दिवस पर सैकड़ों कार्यकर्ताओं के सामने केक काटकर इस लम्हे को यादगार बना दिया।

आगे चुनाव नहीं, सिर्फ समाजसेवा

अब शांता सक्रिय राजनीति से थोड़ा आराम लेंगे और समाजसेवा की तरफ अधिक ध्यान देंगे। शांता कुमार ने कहा कि अपने छह दशक से अधिक के राजनीतिक सफर में उन्हें हर किसी का पूरा प्यार और साथ मिला है और वह अब समाजसेवा व अपने ट्रस्ट को अधिक समय देना चाहते हैं। वह अब चुनाव नहीं लड़ेंगे, केवल लड़वाएंगे।

You might also like